लालू ने ताड़ी बेचने और पीने पर से हटवाया प्रतिबंध

पटना, बिहार/शिवशंकर लालः आखिरकार लालू यादव ने पुनः एक बार साबित कर दिया है की महागठबंधन की सरकार में उनकी मर्जी ही सर्वोपरी है। मतलब इस सरकार में न खाता न बही लालू जो कहे वही सही। अब सूबे में ताड़ी पीने पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं होगा। अपने नये शराबबंदी कानून में ताड़ी पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने वाली नीतीश सरकार ने शनिवार को कहा कि प्रदेश में ताड़ी क़ानूनी दायरे से फ्री रहेगी। उत्पाद मंत्री अब्दुल जलील मस्तान ने बकायदा इसका एलान करते हुए इसकी पुष्टि की है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह कहा जा रहा है कि महागंठबंधन के मुख्य घटक दल राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का लगातार सरकार पर ताड़ी फ्री करने का दबाव था। सरकार ने लालू की सलाह मानते हुए प्रदेश में ताड़ी पर से प्रतिबंध हटा लिया है। उल्लेखनीय है की इससे पहले भी लालू प्रसाद यादव ने कहा था कि ताड़ी पर प्रतिबंध नहीं लगेगा। लेकिन तब नये कानून में ताड़ी को देशी शराब करार दिया गया था। इस कानून के मुताबिक ताड़ के पेड़ से ताड़ी निकालना और उसमें छेद करना भी अपराध हो गया था। इसके लिये बकायदा सजा भी तज़वीज़ कर दी गई थी। लेकिन शुक्रवार को देर शाम हुई महागंठबंधन की बैठक में भी ताड़ी फ्री करने की बात लालू ने कही थी। फिर लगे हाथ राबड़ी ने भी ताड़ी फ्री करने के बाबत बयान जारी किया था। विश्वस्त सूत्रो से मिली जानकारी के मुताबिक महागठबंधन की बैठक में राजद के कई विधायकों ने नये कानून को लेकर सरकार की मुखालफत करते हुए आलोचना की जिसके बाद यह फैसला लिया गया है। यानि अब सूबे में ताड़ी पीने और ताड़ी बेचने पर किसी भी तरह की क़ानूनी अड़चन नहीं होगी।

Share This Post

Post Comment