करंट लगने से युवक की मौत, विद्युत विभाग पर लापरवाही का आरोप

चुरू, राजस्थान/पंकज कुमार यतिः चुरू जिले के बीदासर तहसील के निकटवर्ती ढाणी कुम्हारन में जैतासर मार्ग स्थित एक खेत में रविवार को एचटी लाइन में करंट आने से एक 50 वर्षीय मजदूर की मौके पर ही मौत हो गई। परिजनों ने मुआवजा देने तथा मृतक के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की मांग को लेकर शव लेने से इंकार कर दिया। घंटों समझाइश आश्वासन के बाद शव उठाने पर मामला शांत हुआ। पुलिस के अनुसार ढाणी कुम्हारान निवासी भागीरथ प्रसाद प्रजापत रविवार सुबह घर से ठाकरमल प्रजापत के खेत की सींव की बाड़ करने के लिए गया था। बाड़ को सही करने के बाद सींव के पास कीकर के पेड़ की टहनियां काटने के लिए पेड़ पर चढ़ा। इस दौरान पेड़ के अंदर से गुजर रही बिजली की एचटी लाइन की चपेट में आने से उसकी मृत्यु हो गई। एएसआई जीवराज सिंह डिस्काॅम के कनिष्ठ अभियंता को ग्रामीणों का आक्रोश झेलना पड़ा। दो घंटे की समझाइश के बाद शव का पोस्टमार्टम कराया गया। इस संबंध में मृतक के पुत्र मनोज कुमार ने जीएसएस कर्मचारी राजेश ढाका के खिलाफ लापरवाही पूर्वक बिना सूचना के बिजली आपूर्ति चालू कर देने का मामला दर्ज करवाया है। रिपोर्ट में कहा है कि ढाणी के रामकरण प्रजापत ने निगम के कर्मचारी नंदलाल प्रजापत को बिजली बंद करवाने के लिए फोन किया। जिस पर सुबह 7ः50 बजे बीदासर जीएसएस में कार्यरत कर्मचारी राजेश ढाका से शट डाउन लेकर बिजली बंद करवाई। उसके बाद जैसे पेड़ की टहनी काट रहे थे कि अचानक बिजली आपूर्ति शुरू कर दी गई, जिससे यह हादसा हो गया।

Share This Post

Post Comment