परिजनों की डांट से नाराज दो किशोरियों ने दी जान देने की कोशिश

बैतूल, मध्यप्रदेश/नगर संवाददाताः मध्यप्रदेश के बैतूल जिले में परिजनों की डांट से नाराज दो किशोरियों ने जान देने की कोशिश की. दोनों ही नाबालिगों की जिंदगी संकट में है, उनका जिला अस्पताल में उपचार जारी है. जिला अस्पताल चौकी के प्रभारी सुरेंद्र वर्मा ने संवाददाताओं को बताया कि आत्महत्या की कोशिशों के दोनों मामले घोड़ाडोंगरी थाना क्षेत्र के हैं. एक मामला सालीवाड़ा गांव का है, जहां सक्कूराम काजले की 17 वर्षीय बेटी ने सिर्फ इसलिए कीटनाशक पी लिया, क्योंकि उसने खेत में डीजल नहीं पहुंचाया तो उसके पिता ने उसे डांट लगाई थी. उसका जिला अस्पताल में उपचार जारी है. दूसरा मामला शिवसागर का है, जहां की 10वीं की छात्रा ने इसलिए नस काटकर जान देने की कोशिश की, क्योंकि उसकी मां ने डांट लगाई थी. छात्रा की मां मीना ने उससे घर से कुछ दूर लगे हैंडपंप से पानी भरकर लाने को कहा था. पानी नहीं लाने पर उसे डांट पड़ी थी. मां से नाराज छात्रा अंदर जाकर सो गई. सोमवार सुबह जब मां उसे जगाने पहुंची तो बिस्तर पर खून फैला हुआ मिला. किशोरी ने अपने बाएं हाथ की नस काट ली थी. उसका जिला अस्पताल में उपचार जारी है.

Share This Post

Post Comment