आपदा को देखते हुए सरकारी कर्मियों की छुट्टी रद्द

पिथौरागढ़, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः पहाड़ में आफत बनकर बरस रहे पानी को देखते हुए सरकार ने सभी सरकारी कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी है. राज्य के पिथौरागढ़ और चमोली जनपद में पानी ने जमकर तबाही मचाई है. राज्य में चौतरफा नुकसान पहुंचा रहे बरसात को लेकर सीएम हरीश रावत ने सभी जिलों के जिलाधिकारी व कप्तानों के साथ विडीयो कांफ्रेंसिंग की. सीएम ने अधिकारियों को जहां बेहतर कार्य करने के निर्देश दिए तो साथ ही यकीन भी दिलाया कि सरकार विपरित हालात में भी राज्य वासियों की सेवा के लिए तत्पर है. सीएम ने कहा कि किसी भी तरह की कमी नही रहने दी जाएगी. यही वजह है कि सरकार ने आपदा को देखते हुए 15 करोड़ रुपए भी रिलीज करने की घोषणा कर दी. साथ ही उन्होने ने कहा कि जिन स्थानों पर आपदा से नुकसान हुआ है वहां सरकार पूर्ण रूप से प्रभावित परिवारों को एक माह का राशन जबकि अर्धरूप से प्रभावित परिवारों को 15 दिन का राशन उपलब्ध कराएगी. आपदा में बेहतर कार्य हो सके इसके लिए सरकार ने अवकाश प्राप्त तहसीलदार और नायब तहसीलदारों को 6 माह के लिए फिर से ज्वाईन कराने के निर्देश भी दे दिए हैं. सीएम रावत ने कहा कि, वैसे तो पीडब्लूडी बेहतर कार्य कर रहा है लेकिन मलबे के चलते बंद सड़कों को खोलने के लिए चार घंटे से कम समय निर्धारित किया जाए. चारधाम और मानसरोवार यात्रा पर आए श्रद्धआलुओं की सुरक्षा और उनके खाने पीने की समुचित व्यवस्था हो इसका अधिकारी हर हाल में ख्याल रखें. आपदा में मारे गए लोगों के अंतिम संस्कार के लिए पुलिस दस हजार रुपए देगी जिसे सरकार बाद में पुलिस के कोष में जमा करा देगी. आपदा में मारे गए लोगों के परिजन को दो लाख रुपए दिया जाएगा. आपदा में सरकार बेहतर कार्य कर सके और पीड़ित लोगों तक तुरंत राहत पहुंचे इसके लिए केंद्र से दो हेलिकाप्टर की मांग की गई.

Share This Post

Post Comment