पिथौरागढ़ में बारिश का तांडव जारी

पिथौरागढ़, उत्तराखंड़/नगर संवाददाताः पिथौरागढ़ के सीमांत इलाकों में बारिश का तांडव इस कदर मचा हुआ है कि लोगों को अपनी जान जोखिम में डालनी पड़ रही है. मुनस्यारी तहसील के रालम नदी के पार करने के लिए लोगों को जान की बाजी लगानी पड़ रही है. लोग अपनी जिंदगी दांव पर लगाकर ग्रामीण रालम नदी को पार कर रहे हैं.असल में रालम नदी पर बना कच्चा पुल पिछले दिनों टूट गया था. जिसके बाद पांतों गांव के लोगों को एक लकड़ी के सहारे ऊफनती नदी का पार करना पड़ रहा है. जरा सी चूक, पल भर में जिंदगी को मौत में तब्दील करने के लिए काफी है. प्रशासन का कहना है कि एक-दो दिन के भीतर रालम नदी पर सुरक्षित कच्चे पुल को बना लिया जाएगा. लेकिन ये तय है कि जब तक पुल नही बनता हजारों जिंदगियों पर मौत के बादल यूं ही मंडराते रहेंगे. बारिश के कहर के साथ वहां पर बिजली-पानी की सप्लाई को सुचारू करना भी सरकार के लिए चुनौती बना हुआ है. बारिश से जनहानि तो हुई ही है, जो जिंदगी बची हैं, उनके सामने पीने के पानी और दो जून की रोटी का संकट खड़ा हो गया है. पिथौरागढ़ के बस्तड़ी गांव का बड़ा हिस्सा भूस्खलन की भेंट चढ़ चुका है. यहां आबादी की जगह अब मलबा दिखाई देता है. बारिश अपने साथ बिजली, पानी सबको बहा ले गई. अब यहां केवल पत्थर दिखई देते हैं. बस्तड़ी के आपदा पीड़ित पीने के पानी को तरस रहे हैं.

Share This Post

Post Comment