अमरनाथ यात्रा पर गए यात्रियों को पल पल सता रहा डर

उदयपुर, राजस्थान/नगर संवाददाताः उदयपुर से अमरनाथ यात्रा पर गए यात्री का पल-पल डर के साये में बीत रहा है, पता नहीं कहा से गोली चल जाए या कहा से पत्थरों की बौछार  हो जाए। इसी बीच यात्रियों को  शनिवार रात व रविवार को भी ऐसी घटनाओं का सामना करना पड़ा। लेकिन शुक्र है कि उदयपुर से यात्रा पर गए यात्री को कोई चोट नहीं लगी। यात्री मांगी लाल गोराणा ने बताया कि ज्यादा खराब हालात श्रीनगर क्षेत्र में हो रहे है। आधे यात्री  जम्मू में फंसे हुए है तो कुछ पत्थरों की चोट  खाकर निकल रहे है। उदयपुर के जितने भी यात्री थे वें सब  अभी हिमाचल के ज्वालादेवी क्षेत्र में रूके हुए है जहां कोई डर नहीं है, लेकिन यात्री के मन में अभी डर है। उन्होंने बताया कि श्रीनगर से हिमाचल के ज्वाला देवी के आने वाले रास्ते खनाबल, कांगड़ा, मणिगांव, काजीकुंड, कंगन आदि क्षेत्रों में सड़क के दोनों तरफ प्रदर्शनकारियों की फौज खड़ी हुई है। सबके हाथों में पत्थर रखे हुए है। जो भी  बस दिखती है उसके ऊपर पत्थरों की बौछार कर रहे है। अगर बस गलती से भी रूक जाए तो वह आग में झोक दे, ऐसी स्थिति हो रही है। इसमें किसी बस चालक का हाथ फैक्चर हो गया है तो किसी के सर पर चोट आई है। उन्होंने बताया कि अभी भी लगभग 15 सौ यात्री जम्मू में फंसे हुए है और 20-25 बसे खींची माता क्षेत्र में पड़ी हुई है। हालात इतनी गंभीर हो रहे है कि किसी भी हिम्मत नहीं हो रही है कि सड़क पर बस लेकर निकला जाए।

Share This Post

Post Comment