इलाज के दौरान गर्भवति महिला की मौत, परिजनों ने नर्सिंग होम पर लगाया हत्या का आरोप

भिवानी, हरियाणा/नगर संवाददाताः भिवानी के केलंगा गांव में एक गर्भवति नवविवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. परिजनों ने गांव के ही एक निजी नर्सिंग होम संचालक पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हत्या का आरोप लगाया है. फिलहाल परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने मृतक के पति की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है. बताया जा रहा है कि दिल्ली के पास गांव डोहला निवासी प्रांजल की शादी 22 फरवरी को केलंगा निवासी राजू के साथ हुई थी. फिलहाल प्रांजल अढाई माह से गर्भवती थी और उसे 4 जुलाई को बुखार और उल्टी होने पर गांव के ही एक निजी नर्सिंग होम में इलाज के लिए ले जाया गया.  परिजनों का आरोप है कि उक्त नर्सिंग होम संचालक प्रांजल की हालत नोर्मल होने की बात कह तीन दिनों से इंजेक्शन व गोलियां देता रहा.  मृतक प्रांजल के पिता सुभाष व अन्य परिजनों ने बताया कि प्रांजल की हातल ठिक ना होने पर जब उसके पति राजू ने उसे इलाज के लिए भिवानी किसी अस्पताल में ले जाने की बात कही तो उस समय भी चिकित्सक ने नोर्मल हालत बता कर खुद ही जल्द ठिक करने की बात कही. लेकिन आज सुबह चार बजे जब प्रांजल की हालत गंभीर हुई तो चिकित्सक नरेश ने राजू को पैसे लेने के लिए घर भेज दिया और अपनी गाड़ी में खुद ही प्रांजल को भिवानी के लिए लेकर चल दिया. परिजनों का आरोप है कि चिकित्सक की लापरवाही के चलते प्रांजल की भिवानी पहुंचने से पहले ही मौत हो गई. इस मामले में खरक चौकी पुलिस ने मृतक के पति राजू की शिकायत पर लापरवाही का मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है.

Share This Post

Post Comment