ईद के मौके पर बाजारों में रौनक फीकी, मंहगाई का असर

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः गुरुवार को जहां पूरे देश में ईद का त्योहार बड़े धूमधाम से मनाया जाएगा वहीं आज रुड़की में भी लोग बाजारों में खरीददारी करने के लिए पहुंचे. लेकिन पिछले साल के मुकाबले इस साल बाजारों में रौनक कम दिखाई दे रही है. दुकानदारों का कहना है कि जिस तरीके से ईद के त्योहार में बाजारों में भीड़ और रौनक रहती थी वो इस साल कम दिखाई दे रही है इसका मुख्य कारण है बाजारों में महंगाई. क्योंकि बाजार में हर साल सामान की कीमतें बढ़ती जा रही है जिससे गरीब वर्ग का व्यक्ति घरों से खरीददारी के लिए नहीं निकल पा रहे हैं. वहीं कुछ दुकानदारों का कहना है कि जब जेब में पैसे नहीं होंगे तो इतने महंगे सामान कहां से खरीदेंगे वैसे ही मजदूर और गरीब वर्ग के लोगों के सामने रोजी रोटी का इस महंगाई के दौर में भारी पड़ रहा है लेकिन अब धीरे धीरे ईद का त्यौहार मनाने के लिए भी लोगों में पहली खुशी का माहौल नहीं दिखाई दे रहा है. गौरतलब है कि ईद का त्योहार सात जुलाई को मनाया जाएगा जबकि केरल और जम्मू कश्मीर में यह त्योहार बुधवार को मनाया जा रहा है. नई दिल्ली में फतेहपुरी मस्जिद के इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने बताया- ‘मंगलवार की शाम ईद का चांद नहीं दिखने के कारण अब बुधवार को 30वां रोजा रखा जाएगा और ईद-उल-फितर का त्योहार गुरुवार को मनाया जाएगा.’ दरअसल ईद का त्योहार दूज का चांद दिखने के बाद अगले दिन मनाया जाता है, लेकिन मंगलवार को चांद नहीं दिखने के कारण यह फैसला लिया गया है.

Share This Post

Post Comment