बस्तर इलाके में मोबाइल नेटवर्क हुए खराब

बस्तर, छत्तीसगढ़/नगर संवाददाताः आदिवासी बाहुल्य और नक्सल प्रभावित इलाके बस्तर में आज संचार सेवा की बातें बेमानी लगती हैं. सातों जिलों में नेटवर्क की समस्या के चलते जहां अधिकतर इलाके कटे हुए हैं. सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक एक बार नेटवर्क की समस्या खत्म हो जाए तो नक्सलियों के सफाए में भी देर नहीं लगेगी. वहीं नक्सली भी इस बात को समझते हैं इसी वजह से वह इन मोबाइल टावरों को उड़ाते रहते हैं. हालांकि हाल ही में बनी नयी रणनीति के तहत जल्द ही बस्तर को नेटवर्क से जोड़े जाने की कवायद का खाका तैयार किया गया है. आदिवासी बाहुल्य बस्तर इलाके में कुछ जिले जिनमें बस्तर के अंतिम छोर का इलाका कोटा सुकमा, बीजापुर, नारायणपुर, दंतेवाडा जैसे इलाकें में आज भी संचार साधनों का अभाव बना हुआ है. बीएसएनएल की सेवाओं से इलाके के उपभोक्ता हर दिन परेशान रहते हैं और सुरक्षा महकमा भी इसको झेलता है. सुरक्षा अधिकारियों को कहना है कि अब मोबाईल टावरों को नुकसान पहुंचाए जाने जैसी समस्या बस्तर में बहुत कम हो गयी हैं इसलिए अब जरूरी है कि बस्तर में मोबाईल नेटवर्क मजबूत किया जाए.

Share This Post

Post Comment