सीमांचल में घुसा बाढ़ का पानी

अरारिया, बिहार/नगर संवाददाताः बिहार के सीमांचल इलाके में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश ने बाढ़ का खतरा बढ़ा दिया है. नेपाल से बिहार आने वाली कई नदियों में उफान है. अररिया के परमान नदी में भी जलस्तर बढ़ जाने की वजह से त्रिशूलिया घाट पर बना चचरी पुल ध्वस्त हो गया है. पुल ध्वस्त होने की वजह से कुर्साकांटा और सिकटी प्रखंड का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट गया है. चचरी पुल ध्वस्त हो जाने के बाद यहां करीब 50 हज़ार की आबादी प्रभावित है. लोग प्राइवेट नावों के सहारे गुजारा कर रहे हैं जिससे दुर्घटना की भी आशंका बनी हुई है. बिहार विधान सभा में प्रतिपक्ष के नेता प्रेम कुमार ने स्थानीय त्रिशूलिया घाट पर बन रहे पुल का जायजा लिया. उन्होंने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार की लापरवाही की वजह से पुल का निर्माण नहीं हो सका जिससे आमलोगों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है. प्रेम ने सरकार से अविलंब इलाके में बाढ़ राहत कार्य की समुचित रूप से व्यवस्था कराने की मांग की. मालूम हो कि हरेक साल अररिया के कई इलाको ंमें बाढ़ का पानी प्रवेश कर जाता है जिससे लोगों को जान-माल की हानि होती है.

Share This Post

Post Comment