औरंगाबाद से मुंबई लाया गया ‘दिल’, एक शख्स को मिली नई जिंदगी

मुंबई, महाराष्ट्र/नगर संवाददाताः मुंबई में हार्ट ट्रांसप्लांट कर 38 साल के एक शख्स को नई जिंदगी मिली है. ये हार्ट औरंगाबाद से ग्रीन कॉरिडोर के जरिए मुंबई पहुंचाया गया था, जहां सफल हार्ट ट्रांसप्लांट से ठाणे में रहने वाले एक शख्स को नई जिंदगी मिली है. मुंबई में इस साल जनवरी से 16 सफल हार्ट ट्रांसप्लांट किए जा चुके हैं. वहीं, पिछले साल अगस्त से 20 हार्ट ट्रांसप्लांट किए जा चुके है. यातायात विभाग की मदद से औरंगाबाद से मुंबई के बीच 299 किलोमीटर की दूरी को 1 घंटे 20 मिनट में तय किया गया. ठाणे के इस मरीज को अप्रैल में दिल की गंभीर बीमारी के बाद मुलुंड के फोर्टिस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. सोमवार की रात औरंगाबाद के यूनाइटेड सिग्मा अस्पताल में 32 साल के एक शख्स का सड़क दुर्घटना के बाद ब्रेन डेड हो गया था. जिसके बाद परिवार वालों ने उसके अंगदान करने का फैसला किया. सिग्मा हॉस्पिटल पहुंची डॉक्टरों की टीम ने सुबह 6 बजकर 35 मिनट पर मरीज के हार्ट को निकाला. उसे ऐम्बुलेंस के जरिए 6 बजकर 42 मिनट पर औरंगाबाद एयरपोर्ट लाया गया. पहले से तैयार चार्टर्ड प्लेन से डॉक्टरों ने हार्ट के साथ मुंबई के लिए उड़ान भरी. प्लेन 35 मिनट में मुंबई एयरपोर्ट पहुंच गया. ऐम्बुलेंस से ग्रीन कॉरिडोर के जरिए हार्ट को 25 मिनट में अस्पताल पहुंचाया गया. ट्रांसप्लांट के लिए पहले से तैयार टीम ने हार्ट ट्रांसप्लांट कर मरीज की जिंदगी बचाई. फोर्टिस हॉस्पिटल के चीफ कार्डिक ट्रासप्लांट अन्वय मुले का कहना है कि हार्ट ट्रासप्लांट सफल रहा. मरीज को अगले 48 से 72 घंटों के लिए ऑब्जर्वेशन में रखा गया है.

Share This Post

Post Comment