सदी के सबसे बड़े सूखे से जूझ रहा मराठवाड़ा और विदर्भ क्षेत्र

नादेड़, महाराष्ट्र/नगर संवाददाताः महाराष्ट्र का मराठवाड़ा और विदर्भ क्षेत्र इस समय सदी के सबसे बड़े सूखे से जूझ रहा है. एक तरफ जहां सभी जलस्रोत सूख चुके हैं, वहीं दूसरी तरफ लोगों के पास पीने का पानी तक नहीं है. ऐसे में तीन युवा इंजीनियरों के छोटे से प्रयास की वजह से लोगों के बीच बड़ी उम्मीद जगी है. इन इंजीनियरों ने महाराष्ट्र ट्रक और लारी एसोसिएशन के साथ मिलकर सूखाग्रस्त इलाकों में पानी भेजने का बीड़ा उठाया है. जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र सरकार के सौजन्य से ट्रक और लारी एसोसिएशन (MLTOA) और इम्पैक्ट गुरू ने साथ मिलकर एक संगठन बनाया है, जो प्रतिदिन 25 हजार लीटर क्षमता वाले 20 टैंकर में पानी लेकर सूखाग्रस्त इलाकों में जा रहा है. लोगों को पीने का पानी मुहैया करा रहा है. MLTOA के सचिव सतनाम सिंह ने बताया कि अभी तक इस संगठन ने 2 करोड़ लीटर पानी सूखाग्रस्त इलाके में पहुंचा चुका है

Share This Post

Post Comment