बैंक मैनेजर की गुंडा गर्दी से लोग परेशान

जालोर, राजस्थान/मोहनलालः सांचोर उपखंड मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर सरवाणा ग्राम की राजस्थान मरूधरा ग्रामीण बैंक की शाखा ने बैंक कर्मियों का व्यवहार गुंडागर्दी जैसे देखने को मिल रहा है। लोगों के साथ आये दिन मुंह तोड़ जवाब सुनने को मिलने पर जुल्म से जंग के संवाददाता भी मौके पर पहुंचे वहां पर काफी मात्रा में लोग खड़े थे ग्रामीणों का कहना है कि यहां पर किसानों को ऋण लेने पर केसीसी बनाने के लिए रूपये लिये जाते हैं नहीं तो उन्हें ऋण नहीं दिया जाता है। उतना ही नहीं बचत खाता खोलने पैसे निकालने के लिए भी लोगों को डराया धमकाया भी जाता है। ग्रामीण किशनलाल, प्रतापसिंह, लालबिबि, राणासिंह का कहना है कि हमेशा ही बैंककर्मी समय पर नहीं पहुंचते हैं वह लोगों को मुंहतोड़ जवाब दिया जाता है जिस पर कोई कार्यवाही या सुनने वाला भी नहीं है। लालबीबी असरफ खां का कहना है सरकार द्वारा संचालित मिशन इंद्रधनुष के टिके लगवाने के लिए बैंक खाते का पहचान जरूरी है तो जब वो बेंक पहुंचे तो उनकी कोई सुनने वाला नहीं होता और उनको बाहर निकाल दिया। एक तरफ मोदी सरकार किसानों की आया दुगुनी व प्रत्येक ग्रामीण का बैंक में खाता खुले उसे ऋण दिया जाये यह सपने बैंक कर्मियों के व्यवहार से धुमिल होते दिखाई दे रहे हैं। यदि समय रहते बैंको पर सख्त कदम नहीं उठाया गया तो लोगो को आये दिन ऐसे ही समस्याओं को सामना करते हुए वापिस घर की ओर निराश लौटना पड़ेगा।

Share This Post

Post Comment