विकास कार्यों में धन की कमी नहीं आने दी जायेगी-श्री सिंह

विकास कार्यों में धन की कमी नहीं आने दी जायेगी-श्री सिंह

बीकानेर, राजस्थान/नेमीचंद पाणेचाः केन्द्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री बीरेन्द्र सिंह ने कहा कि पंचायत राज जनप्रतिनिधि, मनरेगा योजना के माध्यम से अपनी पंचायतों में आवश्यकतानुसार विकास कार्य करवाएं,इसके लिए धन की कमी नहीं आने दी जायेगी। जनभावना व जन सहयोग से ही गांव की तस्वीर व तकदीर बदली जा सकती है। केन्द्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री गुरूवार को होटल बंसत विहार में केन्द्र सरकार के दो वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित विकास पर्व के तहत पंचायतराज जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पंचायत राज संस्थाएं मनरेगा में मिलने वाली राशि का गांव के विकास में पूरा उपयोग करें। मनरेगा योजना में रा यों को दी जाने वाली राशि में सर्वाधिक राशि का आन्ध्र प्रदेश 12 प्रतिशत उपयोग कर रहा है, अत:अन्य रा य भी इस योजना के माध्यम से अधिक से अधिक विकास कार्य करवाते हुए जरूरतमंदों को रोजगार सुलभ करावेंं । उन्होंने कहा कि मनरेगा कामगारों के कौशल विकास पर ध्यान केन्द्रित किया गया है। इन कामगारों में से प्रथम चरण में 10 हजार बेयरफुट तकनीशियन बनाए जायेंगे । उन्होंने कहा कि देश विकास की जिस दिशा में आगे बढ़ रहा है,उसमें ग्राम पंचायतों को पीछे नहीं रहने दिया जायेगा। पण्डित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना के तहत युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए गुणवतापूर्ण कौशल प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसके लिए फण्ड की व्यवस्था की गई है। इस अवसर पर उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ,सांसद अर्जुनराम मेघवाल, संसदीय सचिव डॉ.विश्वनाथ मेघवाल, झुंझुनूं सांसद श्रीमती संतोष अहलावत, बीकानेर विधायक (पश्चिम) डॉ.गोपाल जोशी, जिला प्रमुख सुशीला सींवर,महापौर नारायण चौपडा, शहर अध्यक्ष डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, भाजपा नेता युधिष्ठर सिंह भाटी, दिनेसजोशी, मगन पाणेचा, शिवराज, महावीर रांका, पीडी सिंह राठौड़, मोहन सुराणा, प्रदीप उपाध्याय, सुनिल बांठिया, त्रिलोक सिंह, विजय उपाध्याय, अनवर अजमेरी, राजकुमार पारीक, ग्रामीण विकास मंत्रालय के संयुक्त सचिव डॉ.डी.के.शर्मा सहित जिले के प्रधान,जिला परिषद सदस्य,सरपंच आदि उपस्थित थे।

Share This Post

Post Comment