चार दिनों से किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में धरना प्रदर्शन

लखनऊ, युपी/नगर संवाददाताः यूपी की राजधानी लखनऊ में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ पिछले चार दिनों से किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में धरना प्रदर्शन कर रहे डाक्टरों की हड़ताल ने यूपीपीजीएमई अभ्यर्थियों की कॉउंसलिंग दुबारा शुरू होने के बाद विकराल रूप ले लिया. इससे मरीजों का हाल बेहाल हो गया गया है. समय से इलाज न मिलने पर पांच मरीजों की मौत की सूचना है बाद काउंसिलिंग का स्थान केजीएमयू से बदलकर दूसरे कॉलेज नेशनल पीजी में कर दिया गया था. केजीएमयू के नाराज डॉक्टरों ने हड़ताल कर दिया और ओपीडी बंद करा दी. आपातकालीन ट्रामा सेंटर को बंद कर दिया. प्रदर्शन से मरीजों में हाहाकार मच गया. लखनऊ में पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल प्रवेश परीक्षा की दोबारा काउंसलिंग पर भड़का मेडिकल छात्रों का गुस्सा मरीजों की जिंदगी पर भारी पड़ रहा है. साथियों का भविष्य बचाने के चक्कर में तमाम जूनियर डॉक्टरों ने मरीजों की जिंदगी दांव पर लगा दी है. छात्रों की मांग है कि पीजी प्रवेश में पीएमएस संवर्ग को दिए जाने वाले 30 फीसदी अतिरिक्त नंबर की व्यवस्था खत्म की जाए.

Share This Post

Post Comment