छोटे बच्चों के किताबों में ‘सी फॉर कैट’ की जगह अब ‘सी ऑफ काउ’ पढ़ाने का किया फैसला

जयपुर, राजस्थान/नगर संवाददाताः राजस्थान में जयपुर की वसुंधरा राजे सरकार ने छोटे बच्चों के किताबों में ‘सी फॉर कैट’ की जगह अब ‘सी ऑफ काउ’ पढ़ाने का फैसला किया है. इस बदलाव को करते हुए वसुंधरा सरकार ने उच्च प्राथमिक स्कूली किताबों में गाय को माता के रूप में जाहिर किया है। नए स्कूली पाठ्यक्रम में कक्षा पांच की हिंदी पुस्तक में हिंदू देवताओं पर एक पाठ है. इसमें ‘गाय’ की एक बड़ी तस्वीर के साथ ‘गाय’ को माता के रूप में दर्शाया गया है. ‘गाय’ छात्रों को संबोधित करते हुए कहती है ‘मेरे बेटों और बेटियों’ इसी पाठ में मां के रूप में गाय कहती है ‘जो मुझे महसूस करता है में उन सभी लोगों को शक्ति, समझ, स्वास्थ्य, लंबी उम्र, सुख और समृद्धि प्रदान करती हूं.’ कक्षा आठ  की संस्कृत की किताब रंजिनी में ‘धेनु महिमा’ शीर्षक से ‘गाय’ पर विशेष पाठ है जिसमें ‘गाय’ का महत्व बताया गया है. इस पाठ में बताया गया है कि गाय से इंसान को और क्या-क्या फायदे हो सकते हैं.

Share This Post

Post Comment