निवासी गोपाल मिश्रा की हत्या में दंपति को जेल

उत्तर प्रदेश, फीरोजाबाद/शुभम अग्निहोत्री : चार दिन पूर्व चूड़ी गोदाम में काम करने वाले श्रमिक की हत्या कर दी और घटना को आत्महत्या का रूप देने को ट्रैक पर फेंक दिया था। दो दिन पूर्व मृतक की पहचान हो सकी थी। पुलिस ने साजिशकर्ता दंपति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दो मई को दक्षिण कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत मुहल्ला नई बस्ती निवासी गोपाल मिश्रा को घर से कोई परिचित बुला ले गया था। शराब पिलाने के बाद उसकी हत्या कर दी और शव नगला सिंघी क्षेत्र अंतर्गत रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया था। दूसरे दिन परिजनों ने शव की पहचान की। पत्नी पूजा ने थाने में तहरीर दी। इसमें कहा गया था कि पति को उनके साथी पी. यादव, रितेश, जसवंत और मुकल ने शराब पिलाई और फिर अपहरण कर ले गए। शराब पिलाने के बाद हत्या कर दी और घटना को आत्महत्या दर्शाने के उद्देश्य से रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया था। पुलिस ने अपहरण, हत्या में मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और विवेचना में प्रकाश में आए रितेश के पिता राम बाबू सिंह चौहान और मां विमला देवी निवासी सुहागनगर की इस घटना में भूमिका नजर आई। इस पर पुलिस ने गिरफ्तार कर दंपति को जेल भेज दिया। इंस्पेक्टर श्रीप्रकाश यादव का कहना है दंपति पर 120-बी के तहत कार्रवाई करते हुए जेल भेजा है। कहा घटना के मुख्य आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

Share This Post

Post Comment