बम विस्फोट करने आई युवती, खुद हुई घायल

सारन, बिहार/अरविंद तिवारीः एक लड़की बुर्का पहनकर बैठी थी कि अचानक उसके शरीर से बम विस्फोट हुआ, यह देखकर कोर्ट परिसर में खलबली मच गई। इस बम ब्लास्ट में छह लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं। सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। इस बम विस्फोट का धमाका इतना जोरदार था कि आस-पास के लोग इधर- उधर भागकर अपनी जान बचाने में लग गए। धमाके की आवाज सुनते ही पुलिस की टीम तुरत कोर्ट परिसर में दाखिल हुई और मानव बम की आशंका जताते हुए उस घायल लड़की को तुरत अस्पताल ले गई। जानकारी के अनुसार घायल लड़की, जिसका नाम खुशबू कुमारी है वह अपने पैर के पास बम बांधकर आई थी और गलत मौके पर उसने विस्फोट कर दिया और खुद घायल हो गई। लोगों ने बताया कि उन्होंने उसे बुर्का पहनकर आते देखा और कोर्ट में इधर- उधर घूमने के बाद उसने पहले पर्स खोला फिर गर्दन के पास बटन दबाया और विस्फोट हो गया। इस विस्फोट में खुशबू के पैर के नीचे का हिस्सा उड़ गया है। खुशबू कुमारी झौआ बसंत गांव के पास स्थित अवतार नगर की रहने वाली है और इससे पहले भी जेल जा चुकी है। पुलिस अस्पताल में उससे बयान लेने की कोशिश कर रही है लेकिन अभी तक उसने अपना मुंह नहीं खोला है। डीएसपी के पूछने पर वह सिर्फ आंखे बंद कर ले रही है। उसने सिर पर काली पट्टी भी बांध रखी थी। पुलिस तहकीकात के आधार पर यह बात खुलकर सामने आ रही है कि वर्ष 2010 में छपरा के महाराजगंज के तत्कालीन राजद सांसद उमाशंकर सिंह के घर के पास अपराधियों ने एके 47 से तीन लोगों को भून डाला था। मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था। तहकीकात में पता चला है कि सांसद के घर के पास हुए हत्याकांड में शशिभूषण नामक व्यक्ति ने लाइनर की भूमिका निभाई थी। आज शशिभूषण की कोर्ट में पेेशी थी और एेसी आशंका जताई जा रही है कि खुशबू शशिभूषण की ही हत्या के मकसद से कोर्ट परिसर में दाखिल हुई थी। पुलिस ने बताया कि आरोपी लड़की खुशबू पर पहले से भी इस प्रकार के काम करने के आरोप लगे हैं। आरोपी खुशबू फिलहाल बेहोश है उसके होश में आने के बाद ही मामला साफ हो पाएगा, इस विस्फोट के पीछे किसका हाथ है। पुलिस मामले के तमाम बिंदुओं को खंगालने में जुट गई है।

Share This Post

Post Comment