30 मार्च को मनाया जायेगा राजस्थान दिवस

जालोर, राजस्थान/पृथ्वी सिंहः 30 मार्च को राजस्थान दिवस के रूप में मनाया जायेगा राजस्थान का नाम ज़ेहन में आते ही, ढेर सारे रंग आँखों के सामने छा जाते हैं, राजस्थान की जितनी कठिन जीवनशैली, उतने अनूठे इसके रंग। राजस्थान शब्द का मतलब होता है,राजाओं का स्थान, अंग्रेजों ने जब देश के आजाद होने की घोषणा की उसी के साथ राजपूताना के राजाओं में। स्वतंत्र राज्य में भी अपनी सत्ता बरकरार रखने की होड़ मच गयी। उनकी मांग थी की उनकी रियासत को स्वतंत्र राज्य का दर्जा दे दिया जाए।राजस्थान दिवस की कहानी 30 मार्च, 1949 को राजस्थान की नींव रखी गई– हर साल 30 मार्च को मनातें है राजस्थान दिवस– धूमधाम से मनाया जाता है राजस्थान दिवस पर  रंगा- रंग प्रस्तुतियां होती है। ।पिंक सिटी में राजस्थान दिवस पर कई रंगारंग कार्यक्रम 30 मार्च को राजस्थान की राजधानी गुलाबी नगरी का नज़ारा देखने लायक रहता है,जनपथ पर रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं,वहीं झांकिंयां निकलती हैं,घोड़ों और ऊँटों का जुलूस और पुलिस के जवानों के स्टंट्स समा बांध देते हैं।लिहाजा रंग रंगीले राजस्थान की संस्कृतिमें रचे बसे है कई रंग,जिनकी खुशबू पर्यटको को सात समंदर पार से खींच लाती है।

Share This Post

Post Comment