जोधपुर मे घर के बाहर खड़े लडके का अपहरण डेढ करोड की फिरौती मांगी

जोधपुर, राजस्थान/नंद किशोर बोराणाः शनिवार सुबह बनाड़ के निकट राजस्थान अस्पताल के सामने से एक और मासूम का अपहरण हो गया। यह बालक स्कूल जाने के लिए खड़ा था। बालक का अपहरण कर ले जाने वाले संभवत: सफेद रंग की कार लेकर आए। अपहरण के कुछ देर बच्चे के पिता प्रोपर्टी व्यवसायी को फोन कर डेढ़ करोड़ की फिरौती मांगे जाने की बात सामने आई है। अपहरण की सूचना से पुलिस में हड़कंप मच गया। बनाड़ पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज किया। वहीं जिले सहित संभाग भर में इसकी नाकाबंदी करवाई गई है। समाचार लिखे जाने तक बच्चे का पता नहीं लग पाया। गौरतलब है कि कल बोरानाडा के मेघवालों का बास से कल शाम को लापता हुए मासूम अनिल का आज दूसरे दिन भी पता नहीं लग पाया है। बनाड़ क्षेत्र निवासी प्रोपर्टी व्यवसायी सियाराम का आठ साल का पुत्र भूपेंद्र विद्याश्रम स्कूल में पढ़ता है। बताया गया है कि भूपेंद्र आज सुबह स्कूल जाने के लिए अपनी बहन के साथ राजस्थान अस्पताल के सामने खड़ा था। तब एक सफे द रंग की कार आई और मुंह पर कपड़ा बांधे एक युवक नीचे उतरा। उसने भूपेंद्र से उसके पिता के बारे में पूछा। इसके बाद भूपेंद्र को चाकलेट दिलाने का कह उसे कार में बैठा कर रवाना हो गए।  मुकेश की बहन ने घर आकर अपने पिता सियाराम को बताया कि एक सफेद रंग की कार में भाई को दो जने लेकर चले गए। भूपेंद्र के गायब होते ही परिवार में हड़कंप मच गया। सियाराम ने हाथों हाथ पुलिस को सूचित किया। कार बिना नंबरी बताई जा रही है। इस घटना से समूचे पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। बाद में अपहरणकर्ताओं ने प्रोपर्टी व्यवसायी सियाराम को फोन कर डेढ़ करोड़ की फिरौती मांगी। सियाराम का कहना है कि अपहरणकर्ताओं ने साढ़े दस बजे उसे फोन कर कहा कि बालक उनके पास पूरी तरह से सुरक्षित है। उसकी सही सलामत वापसी चाहते हो तो पैसे तैयार रखो। सियाराम के राशि पूछने पर अपहरणकर्ताओं ने कहा कि कुल डेढ़ करोड़ का बंदोबस्त करके रखना। सनद रहे कि कल बोरानाडा के मेघवालों की बस्ती निवासी रमेश कुमार मेघवाल का पांच साल का बेटा अनिल भी घर के बाहर खेलते हुए लापता हो गया। बोरानाडा पुलिस ने बताया कि बच्चे का आज दोपहर तक सुराग हाथ नहीं लगा है। उसे संभवत: दो बाइक सवार युवक उठा ले गए। आपसी लेन देन की आशंका: पुलिस ने बताया कि मामला आपसी लेन देन का हो सकता है। प्रोपर्टी व्यवसायी के पास आए फोन कॉल से पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। कॉल डिटेल में किसी जानकार का हाथ होना सामने आ रहा है। फि लहाल पुलिस इसमें गहनता से जांच कर रही है। सांगरिया फांटा के पास से करीब एक साल पहले दो माह का मासूम लापता हुआ था। जिसका भी पुलिस आज तक सुराग नहीं ढूंढ़ पाई। बच्चे को रात के समय बाइक पर आए कुछ लोग मां की बगल में सोते हुए को उठाकर ले गए थे। पुलिस ने अभी तक इस बारे में सफलता हासिल नहीं की। इसी प्रकार सरदारपुरा पुलिस थाना क्षेत्र में बिग बाजार में खरीददारी को आई ग्रामीण महिला का दो साल का मासूम लापता हुआ था। इस घटना को भी करीब तीन माह हो चुके है।

Share This Post

Post Comment