कूड़ा उठाने वाली गाड़ी के चपेट में आया 10 साल का मासूम

कूड़ा उठाने वाली गाड़ी के चपेट में आया 10 साल का मासूम

फिरोजाबाद,उत्तर प्रदेश/शुभम अग्निहोत्री: शुक्रवार सुबह करीब नौ बजे दक्षिण कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला सराय निवासी सुभान (10) पुत्र जाकिर साइकिल से घर लौट रहा था। घंटाघर के समीप नगर निगम के कूढ़े दान को उठाने वाले वाहन ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। सुभान की मौके पर ही मौत हो गई। हादसा होते ही नगर निगम के कर्मचारी वाहन को छोड़कर भाग गए। सुभान की मौत की खबर से परिवारीजनों में कोहराम मच गया। काफी संख्या में लोग घटनास्थल पर पहुंच गए। सूचना पर पुलिस भी आग गई। पुलिस ने शव को कब्जे लेने का प्रयास किया तो लोग उग्र हो गए। उन्होंने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। कुछ लोगों ने निगम की गाड़ी में तोड़फोड़ कर दी। भीड़ के आक्रोश को देखते हुए बजरिया, घंटाघर, छोटा चौराह व सदर बाजार की दुकानों के शटर गिर गए। घंटाघर पर ठेल लगाए खड़े फल विक्रेता भी भाग खड़े हुए। मामला बढ़ने पर रामगढ़ और रसूलपुर थाने के फोर्स के साथ क्यूआरटी के जवान आ गए। आक्रोशित लोग नगर आयुक्त रामौतार रमन को मौके पर बुलाने के साथ ही चालक की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। नगर मजिस्ट्रेट और सीओ सिटी राजेश चौधरी ने मृतक के पिता और भाई को समझाते हुए पांच लाख का मुआवजा दिलाने और शासन से दस लाख रुपये दिलवाने का आश्वासन दिया। नगर निगम में मृतक के भाई को संविदा पर नौकरी और बाद में स्थायी कराने का आश्वासन दिया तब जाकर लोगों का गुस्सा शांत हुआ घटनास्थल पर मौजूद लोगों का कहना था कि निगम अधिकारियों की मनमानी के कारण सफाई कर्मचारियों के काम का कोई समय निर्धारित नहीं है। कूड़ा उठाने के लिए सफाई कर्मचारी सुबह सात बजे के स्थान पर नौ से दस बजे आते हैं। इससे राहगीरों के साथ दुकानदारों को भी काफी दिक्कत होती है तब तक बाजार खुल चुका होता है और भीड़भाड़ हो जाती है।

Share This Post

Post Comment