सड़क पर हादसे में मासूम की मौत के बाद जमकर हंगामा

फीरोजाबाद, उत्तर प्रदेश/शुभम अग्निहोत्री : जर्जर फीरोजाबाद-फरिहा सड़क पर हादसे में मासूम की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ। ऑटो में टक्कर मारने वाली मेटाडोर में ग्रामीणों ने तोड़फोड़ कर जाम लगा दिया। लगभग तीन घंटे तक चले जाम में ग्रामीण हादसे के लिए लोनिवि के एक्सईएन को जिम्मेवार ठहरा रहे थे। आदेश होने के बाद भी सड़क ठीक न कराए जाने के मामले में डीएम ने एक्सईएन के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं। फरिहा मार्ग तो बन गया, लेकिन गौंछ और चनौरा के पास का हिस्सा पूरी तरह जर्जर है, जिससे यहां आए दिन हादसे होते रहते हैं। रविवार सुबह दबरई निवासी महेश चंद्र राजमिस्त्री कायथा में आयोजित लगुन कार्यक्रम से परिवार के साथ ऑटो से वापस लौट रहे थे। करीब साढ़े आठ बजे नदी पार करने के बाद पीछे से आई मेटाडोर ने ऑटो में टक्कर मार दी, जिससे ऑटो पलट गया। चीख-पुकार सुनकर दौड़े ग्रामीणों ने उन्हें बाहर निकाला, लेकिन तब तक महेश चंद्र के चार वर्षीय पुत्र अंश की मौत हो गई, जबकि चंद्रवती पत्नी दिवारीलाल घायल हो गईं। टक्कर मारने के बाद भागी मेटाडोर को ग्रामीणों ने घेराबंदी कर पकड़ लिया और तोड़फोड़ कर दी और मासूम के शव को सड़क पर रख जाम लगा दिया। सूचना पर एसओ प्रदीप यादव मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाया, लेकिन ग्रामीण जाम खोलने के लिए राजी नहीं थे। इसके बाद एसडीएम टूंडला डॉ. पंकज वर्मा पहुंचे। ग्रामीणों का कहना था कि पूर्व में भी यहां हादसे में मौत हो चुकी है। उस दौरान अधिकारियों ने मार्ग बनवाने का आश्वासन दिया था, लेकिन महीनों गुजरने के बाद भी कुछ नहीं हुआ। इस संबंध में एसडीएम ने डीएम निधि केसरवानी को पूरे मामले से अवगत कराया। डीएम ने एक्सईएन के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं। एसडीएम ने घायल चंद्रवती और मृतक के पिता को जमीन का पट्टा दिलाने का आश्वासन दिया, तब ग्रामीणों ने जाम खोला।

Share This Post

Post Comment