त्रिपुरा मे ग्रामीण क्षेत्र की 25 फीसदी आबादी ढोती है मैला

नाॅर्थ त्रिपुरा, त्रिपुरा/नगर संवाददाताः लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री रतन भौमिक का कहना है कि हमारे यहां ग्रामीण क्षेत्र की 2.5 फीसदी आबादी मैला ढोने वालो की है। उन्होंने कहा कि आदमी द्वारा मैला ढोने की प्रथा 1978 में सरकार द्वारा समाप्त कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के लोग गड्ढो का इस्तेमाल शौचालय के लिए करते है। बाद में उन गड्ढो को मिट्टी से भर दिया जाता है।
…………………….35

Share This Post

Post Comment