अंगीठी जलाकर सोए दो युवकों का दम घुटा, मौत

संजयपुरी, पठानकोट/पंजाबः शाहपुरकंडी एरिया में ठंड से बचने के लिए अंगीठी में कोयला जलाकर सोए 2 फर्नीचर कारीगरों की दम घुटने से मौत हो गई। इसका पता 4 दिन बाद चला जब फर्नीचर हाउस के मालिक दोनों कारीगरों के दुकान पर न आने पर उनके घर पहुंचे। कमरे की कुंडी को ताला लगा होने पर खिड़की के छेद से देखा तो दोनों बेड पर बेसुध पडे थे। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे डीएसपी धार रणजीत सिंह की मौजूदगी में पुलिस कर्मियों ने कमरे का दरवाजा तोड़कर देखा तो दोनों मृत पड़े थे। पुलिस जांच में सामने आया कि बेड के पास अंगीठी पड़ी थी और उसमें कोयले जले थे।पुलिस को आशंका है कि रात भर कोयले की गैस से इन दोनों की मौत हो गई होगी। फिलहाल पुलिस इसकी जांच कर रही है। मृतक रमेश (18) व रामशंकर निवासी हरपूर मसागर, तहसील हटटा ( यूपी) के रहने वाले थे। अड्डा शाहपुरकंडी में आरा चलाने वाले बलशेर सिंह ने बताया कि करीब दो साल से दोनों कारीगर उनकी दुकान पर फर्नीचर पॉलिशिंग का काम करते थे। दोनों 13 जनवरी को दुकान पर आए थे। उनके रिश्तेदारों में किसी की मौत होने के चलते दोनों बाहर रहे। वह जब दुकान पर पहुंचे तो उन्हें पता चला कि कारीगर 4 दिन से दुकान पर नहीं आए। वह शाहपुरकंडी एरिया में किराए के मकान में रहते कारीगरों का पता लगाने गए। उन्हें करियाना दुकानदार राजेश कुमार ने बताया कि यह लोग 14 जनवरी को चावल लेने आए थे। उसके बाद से छत से नीचे नहीं आए। वह छत के ऊपर बने कमरे में देखने गए तो कमरे की कुंडी अंदर से बंद थी। जब खिड़की से छेद से देखा तो दोनों बेड पर बेसुध पडे थे। रमेश की 7 महीने पहले ही शादी हुई थी जबकि रामशंकर 3 बहनों का इकलौता भाई था।

Share This Post

Post Comment