हत्यारों की रिहाई में मतभेद क्यों?

श्रीकाकुलम, आंध्र प्रदेश/नगर संवाददाताः तमिलनाडु की जय-ललिता सरकार ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के केस की तुलना राजीव गांधी के केस से की है। राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि बापू की हत्या में उम्रकैद की सजा पाने वाले नाथूराम गोडसे के भाई विनायक गोडसे को 16 साल बाद रिहा किया जा सकता है। तो पूर्व पीएम राजीव गांधी हत्यारों को क्यो नहीं रिहा किया जा सकता।

Share This Post

Post Comment