भीम हत्याकांड की सीबीआई से जांच कराने की मांग

विनीत मुटनेजा, फजिल्का/पंजाबः भीम हत्याकांड मामले में नामजद सभी अरोपियों की गिरफ्तारी एंव मामले की सीबीआई से जांच करवाने की मांग को लेकर भीम हत्याकांड संघर्ष कमेटी के सदस्यों के नेतृत्व में वाल्मीकि समाज ने आज शहर में रोष मार्च निकाला। इस दौरान शहर की सभी दुकानें बंद रहीं। इतना हीं नहीं निजी स्कूल बंद रहे और कई सरकारी स्कूलों को विभाग की ओर से बंद करवा दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को हजारों की संख्या में वाल्मीकि समुदाय के महिला एवं पुरूषों ने भीम हत्याकांड के अरोपियों की मांग को लेकर बस स्टेंड के निकट रोष प्रदर्शन व चक्का जाम किया और इस मार्ग पर करीब 2 घंटे तक यातायात बंद रहा। रोष प्रदर्शन को देखते हुए शहर के चप्पे चप्पे पर पुलिस बल तैनात रहा। मामले की गंभीरता को देखते हुए डीआईजी अमर सिंह चहल, एडीसी विपुल उज्जवल, एसपी हरजीत सिंह, डीएसपी गुरभेज सिंह व  थाना पऱभारी बलकार सिंह  के नेतृत्व में भारी पुलिस बल तैनात था। एक ओर जहां पंजाब बंद के आह्वान पर पूरा शहर बंद रहा वहीं कुछ अज्ञात युवक आज सुबह बाईक पर सवार होकर आए और दैनिंक सांध्य समाचार पत्र जनता केसरी के कार्यालय के आधा शटर बंद होने के बावजूद भी समाचार पत्र के शीशे तोड़ दिए और फरार हो गए। इसकी सूचना मिलते ही थाना प्रभारी बलकार सिंह पुलिस पार्टी सहित मौके पर पहुंचें और घटना की जांच शुरू कर दी। इधर नगर परिषद प्रधान प्रमिल कलानी, नर सेवा नारायण सेवा समिति प्रधान राजू चराया, बिट्टू नरूला सहित सभी पत्रकार बंधू मौके पर पहुंचें और तोडफोड की घटना की कड़ी निंदा की। इसी प्रकार से आज सुबह करीब 8 बजे रामसरा गांव मे बने शराब के ठेके को कुछ लोगों ने ठेके के करिंदे को बाहर निकालकर आग लगा दी, जिसके बाद उक्त ठेका धू धू कर जलने लगा। आसपास के लोगों ने इसकी सूचना थाना बहाववाला की पुलिस व दमकल विभाग को दी।

Share This Post

Post Comment