चैत्रा गौशाला मंडिया में युवाओं ने लगाए छायादार पौधे

बैंगलोर/महेन्द्र कुमार राजपुरोहित: आज एक ओर जहाँ लोग पेड़ पौधे काट कर आलीशान इमारते बना रहे है। वही एक ओर युवाओं को लगता है की उनके भविष्य के लिये इमारतों की नही पेड़ पौधों की आवश्यकता है। ‘हेल्पिंग हैंड्स बी गुड़ डू गुड़’ संस्था के युवाओं ने चैत्रा गोशाला मंडिया में पौधे लगाये और संस्था के सदस्य चेतन शंकर ने बताया कि वो इन पौधों को अपने घर के टेरस पर गमले में बड़े ही प्यार से बड़े कर रहा था और इन पौधों के लिये गमले चोटे होने लगे और इन्हें बढ़ने के लिये जमीन की आवश्यकता थी बहुत दिनों से वो सही जगह ढूंढ रहे थे क्योंकि पौधें लगाना बड़ी बात नही उनकी बड़े होने तक देख रेख जरूरी है और एक दिन उन्हें ‘ध्यान फाउंडेशन’ की चैत्रा गौशाला के बारे में पता चला और उन्हें लगा ये ही सही जगह है पौधे लगाने के लिये। धन्यवाद है ‘ध्यान फाउंडेशन’ का जिन्होंने इन पौधों को नई जिंदगी दी।
हेल्पिंग हैंड्स बी गुड़ डू गुड़ संस्था के रमेश राजपुरोहित ने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाने चाहिए। इस काम में सभी को मिल कर भाग लेना चाहिए। हमें कम से कम एक पौधा जरूर लगाना चाहिए। हमें यह रिवाज चलाना होगा कि हर खुशी के मौके पर पौधे लगाएं। सिर्फ पौधे लगाने से ही काम नहीं चलेगा बल्कि हमें उनकी देख रेख भी करनी होगी। तभी पौधे लगाने का फायदा है। अपने घरों के आस पास पौधे जरूर लगाएं। पेड़ पौधे मौसम को संतुलित करते हैं। पौधरोपण का यह अभियान सचमुच पर्यावरण की सुरक्षा के लिए जनमानस को जगाने का काम करता है। युवा चाहें तो नई क्रांति ला सकते हैं। हर युवा एक.एक पौध लगाएं एवं उसकी सुरक्षा करें। पृथ्वी को हरा.भरा बनाए रखने के लिए पौध लगाना एवं उसकी सुरक्षा करना सिर्फ सरकार ही नहीं हम सबकी जिम्मेदारी है।

Share This Post