थाना अधिकारी एचएचओ सादुलपुर (चुरू) श्री विष्णुदत्त विशनोई सुसाइड प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए

बीकानेर/राजस्थान, नरेंद्र भारद्वाज: राजस्थान के चूरू में सादुलपुर थानाधिकारी विष्णु दत्त जी विश्नोई की आत्महत्या प्रकरण की सीबीआई जांच होनी चाहिए। आत्महत्या से पहले उन्होंने कहा था की मुझे बेड पोलटिक्स में फंसाया जा रहा है। इस वक्त पूरे राजस्थान की जनता शोक की लहर में है वह बहुत ही ईमानदार और होनहार पुलिस अधिकारी थे इस मामले की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। वह ऐसे लोकप्रिय और निडर अधिकारी थे वह कतई आत्महत्या कर ही नहीं सकते वह राजस्थान पुलिस में सबसे चहेते और इमानदार अधिकारी थे। कोई भी पुलिस के उच्च अधिकारी हो या नेता हो उनसे कोई गलत काम नहीं करवा सकते थे इनकी जनता में लोकप्रियता बहुत ही ज्यादा थी अपराधीकरण पर इनका खौफ था हर कोई विष्णु दत्त जी को अपने थाना क्षेत्र के थाने में लाना चाहते थे। लेकिन गंदी राजनीति के चलते उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर किया गया है। ओर उन्ह पर दबाव बनाया गया है। इसमें कोई दोहराय नही हैं। आत्महत्या को लेकर जनता में बहुत बड़ा आक्रोश है। चाहे राजस्थान की जनता हो या पुलिस अधिकारी हो या नेता हो सबका एक ही कहना है इस सुसाइड प्रकरण की निपक्ष सीबीआइ जांच होनी ताकि इस प्रकरण की सच्चाई क्या है वो सबके सामने आनी चाहिए। सरकार से विनम्र निवेदन है कि जल्द से जल्द इस मामले की जांच कराई जाए यह जो भी घटना घटित हुई है राजनीतिक दबाव में हुई है आत्महत्या हो ही नहीं सकती है क्योंकि यह हत्या है ऐसे पुलिस वालों को न्याय मिलना बहुत जरूरी है। सुसाइड से ठीक एक दिन पहले उन्होंने अपने एक एडवोकेट दोस्त से फोन पर व्हाट्सएप चैटिंग भी की है। उसमें उन्होंने कहा है की मेरे साथ गंदी राजनैतिक हो रही है यह अपने आप मे एक सोचनीय विषय हैं। ऐसे पुलिस अधिकारी द्वारा आत्महत्या कर लेना राजस्थान पुलिस महकमे मे बहुत बड़ी क्षति हुई है जिसका हम मूल्याकंन नही कर सकते राजस्थान पुलिस मे इनका योगदान कभी भुलाया नही जा सकता।

Share This Post