डीडवाना के गांवों में टिड्डी दल की दस्तक

नागौर/राजस्थान, मोहम्मद शाकिर: कोरोना महामारी के बीच डीडवाना तहसील में अब एक और नया संकट पैदा हो गया। दरअसल शुक्रवार को सुबह-सुबह ही डीडवाना तहसील के गांव पालोट, दुदोली, जोरावरपुरा, नोरंगपुरा, आजवा, सींवा व सिंघाना सहित कई गांवों में टिड्डियों का दल पेड़ पौधों पर टूट पड़ा। किसानों ने जब टिड्डी दल को देखा तो सकपका गए क्योकि टिड्डी दल जहां भी पहुँचता है फसलों व पेड़ पौधों को भारी नुकसान पहुंचता है।किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष माधोराम चौधरी व किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष रामाकिशन खीचड़ ने बताया कि इसके लिए केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी से वार्ता करके तुरंत प्रभाव से टिड्डियों को रोकने हेतु दवाओं का छिड़काव करके नष्ट करवाना जरूरी है वरना इससे अगर एक बार अंडे पैदा हो जाए तो जून माह में होने वाली खरीफ की फसलों को भारी नुकसान होने की संभावना बनी रहेगी व फिर इसको रोकना मुश्किल हो जायेगा।आपको बता दे कि राजस्थान में सिंचाई साधनो के अभाव में मुख्य रूप से खरीफ की फसल होती है जो मानसून की बारिश पर निर्भर होती है। किसान पूरी तरह मानसून पर निर्भर होते है। ऐसे में फसल अगर तैयार भी हो जाये तो अगर क्षेत्र में टिड्डी दल को रोकने के उपाय नही किये गए तो तैयार फसल नष्ट होने का खतरा भी बना रहेगा। चौधरी व खीचड़ ने कहा कि टिड्डी रात को चलती है व सैकड़ो किमी की दूरी रात भर में तय कर लेती है उन्होंने इसके लिए तुरंत प्रभाव से केन्द्र व राज्य सरकार से इस मामले में प्रभावी कार्यवाही की मांग की है। जानकारी के अनुसार डीडवाना, लाडनूं, मेड़ता, डेगाना सहित कई गांवों में टिड्डी दल मंडरा रहें हैं अब देखना होगा कि कोरोना काल मे भी सरकार द्वारा किस तरह प्रभावी कदम इसकी रोकथाम हेतु उठाये जाएंगे।

Share This Post