दूसरे स्थानों से राज्य में आने वाले लोगों को 21 दिन क्वारटाइंन में अनिवार्य

चंडीगढ़/पंजाब, अमित शर्मा: कोविड-19 से जारी जंग के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आदेश दिया है कि दूसरे स्थानों से राज्य में आने वाले लोगों को 21 दिन क्वारटाइंन में अनिवार्य रूप से रहना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नांदेड़ से लौटने वाले सभी तीर्थयात्रियों और राजस्थान से आने वाले छात्रों और मजदूरों को सीमा पर रोक दिया जाएगा और उन्हें सरकारी क्वारटाइंन सेंटरों में भेजा जाएगा ताकि 21 दिनों तक अन्य लोगों के साथ मेलजोल न कर सकें। क्वारटाइंन के लिए डेरा राधा स्वामी ब्यास की भी सेवा ली जाएगी। ये सभी कदम इसलिए उठाए जा रहे हैं ताकि कोविड 19 का विस्तार प्रदेश में और ज्यादा न हो सके। मुख्यमंत्री ने विधायकों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना वायरस को लेकर मंथन किया। अधिकतर विधायकों ने इस बात पर सहमति जताई कि केवल कुछ क्षेत्रों में बहुत सीमित रियायतों के साथ प्रतिबंधों को कुछ और सप्ताहों तक के लिए जारी रखा जाए और प्रदेश की सीमाओं के साथ लगते जिलों और गांवों की सीमाओं को भी सील रखा जाए। उन्होंने प्रतिबंधों (लॉकडाऊन) को हटाने में बेहद सावधानी बरतने की सलाह देते वक्त बाहरी संपर्क से फैलाव रोकने के सुझाव दिए। मुख्यमंत्री ने विधायकों से अपील की कि वे अपने सार्वजनिक जिम्मेवारियां निभाते हुए सभी एहतियाती कदम उठाएं ताकि लोगों के लिए उदाहरण पेश हो सके। उत्तर प्रदेश द्वारा प्रवासी मजदूरों को क्वारटाइंन के बाद वापस भेजने की अपील पर कैप्टन ने कहा कि उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ को बता दिया है कि यह उनकी सरकार ने करना है न कि हमने।

Share This Post