उल्वे नोड में बढ़ती वारदाते

राजस्थान/कैलाश सिंह राठौर : उल्वे नोड नवी मुंबई उल्वे नोड में दिन प्रतिदिन असामाजिक तत्वों द्वारा वारदाते बढ़ती जा रही है। इस से विशेषकर व्यापारी वर्ग बहुत चिंतित है। क्योंकि यहाँ पर कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा छोटी बड़ी गैंग बनाकर ये लोग अपराधिक् गतिविधियों को अंजाम देते है। दिन ब दिन कभी दुकानों क़े ताले तोड़कर चोरी करना, दुकानों में जाकर व्यापारियों क़े साथ मारपीट और गाली गलौज करना, जान से मारने की धमकी देना, व्यापारी से हप्ता वसूली करना, दुकानों क़े सामने जबरदस्ती ठेलो वालो को बिठा देना, व्यापारियों पर झूठे इल्जाम लगाना, उधार सामान मांगना नही देने पर झगड़ा करना, दिन दहाड़े भीड़ में दुकानों में से चोरी करना, फर्जी पुलिस बन क़े पैसा मांगना, खाने पिने की चीज ख़राब है बोल के डरा क़े पैसा ऐंठना, प्लास्टिक थैली नही देने पर लड़ाई झगड़ा करना, उधारी का पैसा मांगने पर लज्जा भंग क़े केस में फ़साने की धमकी देना इत्यादि इस प्रकार की घटनाये दिन ब दिन बढ़ती जा रही है।
व्यापारी लोगो द्वारा पुलिस प्रशासन में शिकायत करने पर या तो शिकायत लिखते नही है या फिर ज्यादा बोलने पर लिख भी देते है तो एन.सी. लिख कर भेज देते है। लेकिन एन. सी. और एफ. आइ. आर. पर कुछ कार्यवाही नही होती है। ज्यादा बोलने पर व्यापारी को ही फसा देते है या फ़साने की धमकी देते है। विगत दो वर्षो में सेकड़ो घटनाये हुई है लेकिन अभी तक किसी एक भी घटना पर अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई है। पुलिस प्रशासन को कई बार अवगत कराने पर भी यहाँ कोई सुध लेने वाला नही है। देश की अर्थ व्यवस्था की रीढ़ की हड्डी कहे जाने वाले व्यापारी वर्ग की ओर पुलिस प्रशासन ध्यान क्यों नही दे रही है। कई बार तो व्यापारी लोगो की कार्यवाही तो दूर की बात लेकिन शिकायत भी दर्ज़ नही करते है। इस तरह बढ़ती हुई आपराधिक गतिविधियों से व्यापारी वर्ग बहुत भयभीत है। ये ही छोटे बड़े अपराधी आगे जाकर गंभीर संज्ञेय अपराध को अंजाम देते है। अगर समय रहते इस पर अंकुश नही लगाया गया तो गंभीर आपराधिक क्षेत्र की श्रेणी में आ जायेगा। अभी तो व्यापारियों का व्यापार करना भी दुश्वार हो गया है। जीविकोपार्जन करना भी बहुत मुस्किल हो गया है। व्यापारियो में पुलिस प्रशासन क़े प्रति रोष व्याप्त है। माननीय पुलिस महानिदेशक से अनुरोध करते है कि नवी मुंबई पुलिस प्रशासन पर विशेष ध्यान दिया जाये और व्यापारी विशेष क़े हितो को ध्यान में रखते हुये उचित कार्यवाही करने क़े आदेश दे। और मंदी क़ी मार झेल रहे व्यापारी लोगो की शिकायतो पर विशेष संज्ञान लिया जाये। और उल्वे नोड से सम्बंधित थानों में पर्याप्त पुलिस बल तैनात करके पुलिस व्यवस्था को सुदृढ करे।

Share This Post