भारत माता का मान और सम्मान बढाकर आगे बढ़े मनोज कुमार

जालोर/राजस्थान, चेतन पुरोहित : चाणक्य विद्यापीठ उ. मा. भीनमाल के द्वादशी कक्षा का विदाई एवं शुभकामना समारोह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ चित्तौड़ प्रांत के विश्व संवाद केन्द्र के प्रमुख मनोज कुमार ने अपने उद्बोधन में कहा कि विद्यार्थी अपने उच्चतम लक्ष्य को साधने के लिए भारत माता के मान .सम्मान कों ध्यान में रखते हुए आगे बढ़े। अधिकारों के साथ कर्तव्य मार्ग पर अग्रसर हो। तनाव मुक्ति के लिए शारीरिक साधना में योगए व्यायाम और प्राणायम करें।
सज्ज्न समर्थ हो, समर्थ सज्ज्न हो और सज्ज्न संगठित होकर अपने जीवन .पथ पर राष्ट्रीय विचारों के साथ अखंड रूप से डेट रहे। संस्था के प्रबंध निदेशक सांवलसिंह लोल ने उपस्थित विद्यार्थी भैया-बहनों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सीखने की जो प्रक्रिया हैं वो जीवन भर चलती रहती हैं। बाधाएं आती है तो आने दे। उन्होंने मादा जिराफ और उसके नवजात शिशु की बोध कथा के माध्यम से बच्चों को जोश के साथ मुसीबत से लड़ने की बात कही। प्रधानाचार्य गोपी लालगौड़ ने कहा कि बच्चों में जो संस्कार बाल्यावस्था में ही
प्रस्फुटित होते हैं वे चिर स्थायी रूप से जीवन भर साथ रहते हैं। सह प्रधानाचार्य मीठा लाल जांगिड, सुरेश जांगिड, बंशीलाल, महेन्द्र शर्मा, रणजीत परमार, प्रारंभिक भाग प्रमुख सुरेश जांगिड सहित विदाई ले रहे भैया-बहनों के साथ साथ विदाई देने वाले जूनियर्स ने भी विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम का संचालन सुरेश जांगिड ने किया।

Share This Post