प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में हुआ संवाद कार्यक्रम, रुक्ष्मणि कुमारी ने उठाए ज्वलंत मुद्दे

जयपुर, जगदीश कुमावत: राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में कल जयपुर ग्रामीण के वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ संवाद कार्यक्रम किया गया। इसमें प्रदेश प्रभारी एवं एआईसीसी महासचिव अजय माकन प्रदेश सह प्रभारी विवेक बंसल, प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा व जिलाध्यक्ष राजेंद्र यादव थे। चौमू विधानसभा क्षेत्र से वरिष्ठ कांग्रेसी कार्यकर्ता के रूप में पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी, ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष रुकमणी देवीए पीसीसी सदस्य रमेश गुलिया, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लालाराम बलेसरा, व हरिनारायण यादव ने संगठन की मजबूती को लेकर संवाद कार्यक्रम में विचार रखे। कोविड-19, किसानों की समस्या, आगामी चुनाव और संगठन की मजबूती को लेकर पदाधिकारियों से संवाद किया। कार्यक्रम में ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष रुकमणी देवी ने कहा कि कोविड-19 में सरकार ने लोगों को जो राहत देने के कार्य किए हैं। उन सब कार्यों को बूथ के लोगों के बीच पहुंचाए जाने चाहिए। कार्यकर्ताओं की समस्या की सुनवायी भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश का किसान बिजली के बिलों को लेकर परेशान हैं। उन्होने कहा कि वीसीआर नहीं भरने को लेकर सरकार को विचार करना चाहिए। पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी ने कहा कि वर्तमान में किसान वीसीआर भरने की कार्रवाई से परेशान है। कोरोना के चलते वीसीआर की कार्यवाही पर अंकुश लगाना चाहिए। साथ ही बिजली बिलों में सब्सिडी को वापस लागू किया जाए। चोमू तहसील के ब्लॉक अध्यक्ष लालाराम बालेसरा ने कहा कि प्रदेश में किसान कांग्रेस से नाराज है। उन्होने कहा कि बिजली बिलों में सब्सिडी वापस लागू की जानी चाहिए साथ ही उन्होंने किसान, युवा और बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं को जोड़ने से ही संगठन की मजबूत रहने की बात कही। संवाद कार्यक्रम की शुरुआत में प्रदेश प्रभारी ने अजमेर में हुए मसले का जिक्र करते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं को बोलने का मौका नहीं मिलता है। लेकिन कोई भी कार्यकर्ता चिट्ठी के जरिए बता सकते हैं। सभी की चिट्ठी पढ़ी जाती है। हम सबको संगठन की मजबूती पर ध्यान देना होगा।

Share This Post