जोधपुर ग्रामीण पुलिस ने महिलाओं एवं बालिकाओं को दी आत्मरक्षा की ट्रेनिंग

जोधपुर/दिनेश राजपुरोहित: पुलिस अधीक्षक जोधपुर ग्रामीण राहुल बारहट ने बताया कि बालिकाओं एवं महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचारों के मध्यनजर जिला पुलिस जोधपुर ग्रामीण द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के साथ उन्हे आत्मरक्षा के लिये सशक्त बनाने, अपने अधिकारों एवं कानूनों के बारे में सजग करने एवं महिला अपराधों में कमी लाने के उददेश्य से महानिदेशक पुलिस राजस्थान के आदेशानुसार जिला जोधपुर ग्रामीण पुलिस के ष्महिला शक्ति आत्मरक्षा केन्द्र द्वारा आत्मरक्षा प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसी क्रम में आज कस्बा बावड़ी चल रहे प्रशिक्षण शिविर का बावड़ी में सम्मान समारोह आयोजित किया गया। समारोह में शंकरलाल मंसुरिया पुलिस उप अधीक्षक रेंज साईबर सेल, धन्नाराम तहसीलदार बावड़ी, रेणु ठाकुर निरीक्षक पुलिस, शिवजीराम कागट एसीबीओ बावड़ी. श्रवण भगोरिया स्पेशल टीम, रणवीर सिंह, नरपत सिंह, हनुमानराम, ओंकारराम एवं कस्बा बावड़ी के गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। जिन्होने प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण.पत्र प्रदान किए गये। प्रशिक्षण के दौरान मनचलों से निपटने, उन्हे सबक सिखाने, बालिकाओं एवं महिलाओं द्वारा स्वयं की रक्षा करने के लिए जोधपुर ग्रामीण पुलिस द्वारा गठित महिला आत्मरक्षा केन्द्र के इस बैच में कुल 52 बालिकाओं/महिलाओं ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। समापन्न समारोह में प्रशिक्षित बालिकाओं ने मनचलों एवं अपराधियों का सबक सिखाने का प्रदर्शन भी किया। प्रशिक्षण जोधपुर ग्रामीण पुलिस की प्रशिक्षित महिला कानिस्टेबल रामस्नेही विश्नोई एवं सुखी चौहान ने लगातार 7 दिन गहन प्रशिक्षण दिया प्रशिक्षण के दौरान आत्मरक्षा हेतु विभिन्न रक्षात्मक कलाओं के गुर सिखाए तथा मानसिक रूप से सक्षम बनाने के लिये महत्वपूर्ण जानकारियां भी दी। महिला शक्ति आत्मरक्षा केन्द्र के प्रथम बैच के सफलता पूवर्क पूर्ण करने पर जिला पुलिस अधीक्षक जयपुर ग्रामीण द्वारा महिला प्रशिक्षक रामस्नेही विश्नोई एवं सुखी को पुरूस्कृत किया जायेगा। उक्त महिला शक्ति आत्मरक्षा केन्द्र में आगामी बैच हेतु 13 वर्ष से अधिक की कोई भी कामकाजी गृहिणी महिला, अध्ययनरत बालिका, शिक्षण संस्थाएं एवं अन्य संस्थाएं अपनी संस्था में अध्ययनरत महिला/बालिकाओं का नामांकन करा सकती हैं।

Share This Post