प्रशासन ने की एक तरफ कारवाई. जल उठा श्री डूंगरगढ

सिक्किम, नरेन्द्र भारद्वाजः गुंसाईसर से सालासर जा रहे संघ के यात्रियों साथ डीजे बजाने की बात को लेकर मस्जिद के सामने मुस्लमान युवकों से झगड़ा हो गया जिसमें कई पैदल यात्री घायल हो गये, जिसकी कड़े शब्दों में निंदा करता हूं अब जिन मुस्लिम युवकों ने ये सब किया वे तो खिसक लिए मगर कर दिया हिन्दु मुस्लमानों को आमने सामने, ज्ञात रहे हमारा कस्बा आपसी भाईचारे कि मिसाल रहा है, मगर कुछ दंगा फेलाने वाले लोगों ने सालासर जाने वाले संघ के यात्रियों को गाली गलोज करके शहर का माहोल शान्ति भंग कर दिया था! पुलीस ने धारा 144 लगाके ऊपर से कफ्र्यू लगा दिया गया था। पिछले छह दिनों से अभी तक जारी करफ्यू के चलते न कि श्री डंगूरगढ़ बल्कि आस पास के सैकडों गांवों पर इसका असर देखा जा सकता है। क्योंकि लोगों को जरूतमंद समान और दवाईयां नहीं मिल पा रही हैं लोगों का सामान्य जीवन बिल्कुल ठप हो गया है लोग अपने ही घरांे में कैद हो गये है जैसे कि जैल मे हो यह कहना है शहर के लोगों का ठीक इसी बीच मंे आज कफ्र्यू मंे दो घण्टे ढील दी गई  लेकिन फिर माहोल गरमा गया। इसी बीच लोगों का यह कहना है कि पुलिस और प्रशासन की कार्यवाही से हम लोग संतुषट नही जिन्होंने यह दंगा शहर में फैलाया है उनको जल्दी से जल्दी गिरफ्तार किया जाये। बेकसुर लोगांे को तुरन्त रिया किया जाये तभी कोई आगे बात बन सकती है। शहर में अभी भी तनाव का माहौल बना हुआ था।
अंत में सभी भाईयों से इतना ही कहना चाहता हूं कि सभी शांति बनाने में सहयोग करे जिससे मे श्री डूंगरगढ़ पहले कि तरह शांति व भाईचारे से आगे बढ़ सके!

Share This Post

Post Comment