दवा व्यवसाय बंद होने से मरीज परेशान

अजमेर/राजस्थान, श्याम शर्माः सरकार के आॅनलाइन दवा बिक्री चालू करने के कारण देश के 14 लाख केमिस्टों ने 24 घंटे का बंद रख कर इसका विरोध किया जिससे जिले की सारी मेडिकल स्टोर बंद रहे जिसके चलते मरीजों को दवा के लिए इधर उधर भटकना पड़ा देशव्यापी दवा विक्रेताओं के बंद के दौरान शहर की सभी दवाओं की दुकानें बंद रही व्यावर केमिस्ट एसोशन ने एस.डी.एम. को ज्ञापन देकर इसका विरोध किया ज्ञापन देने रजनीश बाकलीवाल, कपिल खण्डेलवाल, महेंद्र भंडारी, ताराचंद गोलानी, सुखमाल जैन, हरगुन लालवानी सभी केमिस्ट एक साथ मिलकर ज्ञापन देने गए और इसका विरोध प्रकट किया इस सेवा से सभी प्रतिबंधित मेडिसिन की बिक्री ज्यादा होगी एक तरफ तो सरकार दवा विक्रेताओं पर शिकंजा कस रही की दतग की मेडिसिन डाॅक्टर के पर्चे के बिना नहीं बेच सकते दूसरी तरफ आॅनलाइन सेवा चालू की का रही है जिसके चलते नोजवानो में नसे की लत ओर बघ् जायेगी सरकार डाॅक्टरों पर तो कोई पाबन्दी नहीं लगा रही और केमिस्टों को परेशान कर रही है मरीजों को बंद के दौरान परेशानियों का सामना करना पड़ा दवा के लिए भटकना पघ निजी क्लीनिकों की भी सभी दुकाने बंद रही सरकरी दुकानें खुली रही पर वहां सभी मेडिसिन उपलब्ध नहीं हो सकी जिसके कारण मरीज परेशान रहे।

Share This Post

Post Comment