नहर का निर्माण कार्य युद्धस्तर पर, निरक्षण के दिए निर्देश

वानाराम चैधरी/जलौर, राजस्थानः आनेवाली रबी की सीजन में किसानों को समय पर पानी उपलब्ध करवाने के लिए टूटी नर्मदा नहर की मुख्य केनाल विभिन्न वितरिकाओं का वापस निर्माण युद्घ स्तर पर किया जा रहा है। जल्द किसानों को पानी मुहैया करवाने के लिए नर्मदा विभाग के तमाम अधिकारी जनप्रतिनिधि लगातार मॉनिटरिंग करके निर्माण कार्य करवा तेजी से करवा रहे है इसी तरह सब कुछ ठीक चलता रहा तो 1 नवंबर तक नर्मदा नहर की मुख्य केनाल में पानी की आवक शुरु हो जाएगी। 

दो माह पहले आई बाढ़ अतिवृष्टि से नर्मदा नहर की मुख्य केनाल तीन जगह से टूट कर बिखर गई थी। जिससे खरीफ फसल के लिए किसानों को पानी नहीं मिल सका। ऐसे में सांचौर चितलवाना उपखंड के गांवों में किसानों की फसलें जल गई थी। मुख्य केनाल जगह जगह से टूट कर बिखर जाने के कारण किसानों को इस रबी की सीजन में पानी मिलने की उम्मीद नहर नहीं रही थी मगर नर्मदा विभाग जनप्रतनिधियों की पैरवी के बाद राज्य सरकार ने नर्मदा नहर की रिपेयर करने के लिए बजट आवंटित कर दिया था। बजट के हिसाब से नर्मदा नहर प्रशासन ने टेंडर करवा निर्माण कार्य भी शुरु करवा दिया है। अब जल्द ही नहर को रिपेयर होने के बाद विभाग रबी की सीजन के लिए पानी छोड़ देगा। निर्माण कार्य का निरीक्षण कर दिए आवश्यक निर्देश सोमवारको चितलवाना प्रधान हनुमानप्रसाद भादू नर्मदा विभाग के चीफ राजीव डूडी ने लालपुर हेड पर चल रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया ओर ठेकेदार को समय सीमा में निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश दिए। चितलवाना प्रधान हनुमानप्रसाद भादू ने भी किसानों से कहा कि नर्मदा नहर की मुख्य केनाल सहित अन्य वितरिकाओं का निर्माण कार्य युद्घ स्तर पर किया जा रहा है लेकिन किसान भी अपने क्षेत्र में हो रहे निर्माण कार्य में ठेकेदारों नर्मदा विभाग के अधिकारियों का सहयोग करें ताकि समय पर किसानों को रबी की फसल के लिए पानी मिल सके।

Share This Post

Post Comment