मृत ईन्सान पोस्टमार्टम से पहले जाग उठा।

हषॅद जोशी-मुंबई:- मुंबई के सायन अस्पताल में एक अनोखा मामला सामने आया है। खबर के अनुसार पोस्टमार्टम से ठीक पहले मृत इंसान उठ खड़ा हुआ। डॉक्टर के अनुसार   11.10.15  के रविवार सुबह 11.15 बजे के करीब सायन पुलिस को एक फोन आया जिसमें कहा गया कि एसटी बस डिपो के पास एक शख्स बेहोश पड़ा है। पुलिस ने तुरंत पेट्रोलिंग टीम भेजी जिसने वहां पड़े शख्स को उठाकर सायन अस्पताल में भर्ती करा दिया। सूत्रों के मुताबिक, चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. रोहन रोहेकर उस वक्त ड्यूटी पर थे। चेकअप के बाद शख्स को मृत घोषित कर दिया गया। डेड बॉडी को मुर्दाघर भेज दिया गया।
डेड बॉडी को कैजुअलिटी वार्ड में कम से कम दो घंटे तक रखा जाता है। इसे कूलिंग ऑफ पीरियड कहते हैं। जहां रिवाइवल का चांस रहता है। बॉडी सफेद कपड़े से ढकी थी और डॉक्टर ने तुरंत कैजुअलिटी वार्ड की डायरी में एंट्री की और उसे मुर्दा घर लेकर पहुंच गए। बॉडी को मुर्दाघर तक एक स्ट्रेचर में ले जाया गया। लेकिन जैसे ही वहां के स्टाफर सुभाष और सुरेंदर बॉडी को लिफ्ट पर चढ़ाने वाले थे उन्हें शॉक लगा। सुभाष ने कहा, मरा हुआ शख्स सांस ले रहा था, सांस लेने पर उसका पेट ऊपर-नीचे हो रहा था। इसके कुछ देर बाद ही मरीज जाग गया। अस्पताल के एक स्टाफर ने बताया, जैसे ही वह शख्स जिंदा हुआ डॉक्टर मुर्दा घर की ओर दौड़े। वहां उन्होंने डेथ इंटिमेशन रिपोर्ट को तुरंत फाड़ दिया और कैजुअलिटी वार्ड डायरी से एंट्री भी मिटा दी। हालांकि, अभी तक इस युवक की पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Share This Post

Post Comment