देवेन्द्र जांगू की विधवा बनकर रह रही प्रेमिका पूनम बिश्नोई की हत्या का राज खुला

दातवाड़ा, भेराराम चैधरीः निकटवर्ती सेवड़ी गांव के जांगुओं की ढाणी में गत 12 अगस्त को तड़के देवेन्द्र जांगू की विधवा बनकर रह रही प्रेमिका पूनम बिश्नोई की हत्या के मामले का राजफाश हो गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामेश्वरलाल ने बताया कि रात तक देवेद्र की परिजनों से कड़ाई से पूछताछ करने पर चुन्नीदेवी ने पूनम की हत्या करने की बात कबूल कर ली।

ज्ञात रहे कि पुलिस ने पूनम की हत्या के माामले में आठ टीमें गठित कर हत्या के राजफाश करने की कवायद शुरू की थी। उल्लेखनीय है कि सेवड़ी गांव के जांगुओं की ढाणी में देवेन्द्र जांगू की विधवा बनकर प्रेमिका पूनम पहली पत्नी पूनी के साथ रह रही थी। 12 अगस्त को तड़के पूनम की हत्या कर दी गई थी।

इस मामले में सेवड़ी निवासी भगवानाराम विश्नोई की रिपोर्ट पर डीगांव निवासी कालूराम पुत्र लाडूराम, मनोहरलाल पुत्र हरीरामए बुधाराम पुत्र कानाराम, गणपतलाल पुत्र बुधाराम, गुंदाऊ निवासी बाबूलाल पुत्र कोहलाजी विश्नोई व करड़ा निवासी पूनमचंद उर्फ पीसी पुत्र श्रीराम विश्नोई के विरुद्ध मामला दर्ज करवाया गया था।

रिपोर्ट में बताया गया था कि कुछ नकाबपेशों ने हथियारों से लैस होकर हमला किया था। बीच-बचाव करने आई देवेन्द्र की मां चुन्नीदेवी को भी पटक दिया और आंगन में खाट पर सो रही पूनम की गला दबाकर हत्या कर दी थी, लेकिन गहन तफतीश में पुलिस ने देवेन्द्र की मां चुन्नीदेवी पर ही शक जताया और कबूलने पर उसे गिरफ्तार कर लिया।

Share This Post

Post Comment