दुनिया का पहला खोपड़ी और सिर की त्वचा का ट्रांसप्लांट

दुनिया का पहला खोपड़ी और सिर की त्वचा का ट्रांसप्लांट

ह्यूस्टन। ट्रांसप्लांट सर्जरी के क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि हासिल करते हुए अमेरिकी डॉक्टरों ने दुनिया के पहले खोपड़ी एवं सिर की त्वचा के ट्रांसप्लांट को अंजाम दिया। ट्रांसप्लांट करवाने वाले 55 वर्षीय व्यक्ति को कैंसर के इलाज के दौरान सिर में एक गहरा जख्म आया था। एमडी एंडरसन कैंसर सेंटर और ह्यूस्टन मेथोडिस्ट हॉस्पिटल ने गुरुवार को घोषणा की कि उन्होंने 22 मई को 15 घंटे तक चले इस ऑपरेशन को अंजाम दिया।
ऑस्टिन के सॉफ्टवेयर डेवलपर जेम्स बॉयसन ने इस ट्रांसप्लांट के साथ-साथ एक किडनी और अग्नाशय का भी ट्रांसप्लांट करवाया। यह सर्जरी एक दिन तक चली। सर्जरी के बाद बॉयसन की तस्वीर में उनके सिर के ऊपर टांके दिखाई दे रहे हैं। ये टांके उनके कानों से लगभग ढाई सेमी की ऊंचाई पर हैं, जहां खोपड़ी और त्वचा को जोड़ा गया है। प्लास्टिक सर्जरी वाले दल का नेतृत्व करने वाले डॉक्टर माइकल क्लेबक ने मीडिया को बताया कि यह नाड़ियों से जुड़ी बहुत जटिल प्रक्रिया थी। उन्होंने कहा, हमने खोपड़ी की हड्डी को और सिर की बाल उगाने वाली त्वचा को लगाया।
क्लेबक ने कहा, इस तरह का तिहरा ट्रांसप्लांटेशन पहले कभी सामने नहीं आया और हमारी जानकारी में किसी ने खोपड़ी और सिर की त्वचा के ट्रांसप्लांट की भी जानकारी नहीं दी है। बॉयसन ने सर्जरी के बाद कहा, मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं और इससे मैं बहुत खुश हूं। मैं हमेशा इस बात के लिए आभारी हूं कि मुझे अपनी पसंदीदा चीजों को करने और अपने प्यारे लोगों के साथ रहने का एक और मौका मिला।

Share This Post

Post Comment