यमन हवाई हमलों से 1,20,000 विस्थापित: संयुक्त राष्ट्र

जेनेवा। यमन में जारी राजनीतिक संकट और हौती विद्रोहियों के खिलाफ सऊदी अरब के नेतृत्व में पिछले महीने से जारी हवाई हमलों के कारण 1,20,000 से ज्यादा लोगों को विस्थापित होना पड़ा है।
एक समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफेन डुजैरिक ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र मानवीय मामले के समन्वय कार्यालय (ओसीएचए) के हवाले से बताया, अबयान में 1,730 से ज्यादा विस्थापित परिवार अस्थाई तौर पर स्कूलों, मेजबान समुदायों या रिश्तेदारों के घरों में रह रहे हैं।
संघर्ष के कारण लोगों को खाने तक की समस्या हो रही है। अदन के स्थानीय बाजार में आटा नहीं है और सभी बेकरियां बंद हैं। उन्होंने बताया, अदन, अबयान और अल धाली के कुछ इलाकों में लैंडलाइन फोन और सेलफोन नेटवर्क काम नहीं कर रहे हैं। अदन और अल मुकल्ला में 12-12 घंटों तक बिजली गुल रहने से लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।
प्रवक्ता ने बताया, मानवतावादी साझीदार सहायता उपलब्ध करा रहे हैं और सड़कें पुनः खुलने पर जल्द से जल्द सहायता उपलब्ध कराने के लिए तैयार हैं। संयुक्त राष्ट्र में मानवतावदी मामलों की अंडर-सेक्रेटरी वालेरी एमोस ने यमन में जारी लड़ाई के बीच नागरिकों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है।
उन्होंने सभी पक्षों से अंतर्राष्ट्रीय कानूनों का पालन करते हुए नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा है। मानवतावदी साझीदारों की रिपोर्टो के मुताबिक, पिछले दो सप्ताह में लगभग 519 लोग मारे जा चुके हैं और लगभग 1,700 लोग घायल हुए हैं।

Share This Post

Post Comment