रामपाल समर्थकों और पुलिस में झड़प, आश्रम की दीवार तोड़ी

नई दिल्ली। रामपाल की गिरफ्तारी के लिए आश्रम की घेराबंदी कर बैठी पुलिस और समर्थकों के बीच दोपहर को शुरू हुआ संघर्ष हिंसक रूप ले चुका है। मौके पर युद्ध जैसा माहौल है। रामपाल समर्थक पत्थर के साथ ही पेट्रोल बम से हमला कर रहे हैं और फायरिंग भी कर रहे हैं।

पुलिस की ओर से भी जवाबी कार्रवाई की जा रही है। इससे पहले समर्थकों की ओर से पत्थरबाजी शुरू की गई।हालात बेकाबू होता देख पुलिस ने भी लाठियां चलाईं और आंसू गैस के गोले दागे। फायरिंग होने की भी सूचना भी है। समर्थकों और पुलिस, दोनों ओर से लोगों के घायल होने की सूचना है। कुछ पत्रकारों को भी इस दौरान चोटें आई हैं।

इसके बाद जेसीबी मशीन की सहायता से पुलिस ने आश्रम की चाहरदीवारी का एक हिस्सा तोड़ दिया है। पुलिस यहीं से अंदर प्रवेश करने की कोशिश में है। इस मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री ने आपातकालीन बैठक बुला ली है। इस बीच जमानत से संबंधित याचिका पर हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है।

इसके साथ ही पुलिस अब आश्रम में प्रवेश करने की कोशिश में है। आश्रम के अलग-अलग हिस्सों से समर्थकों को बाहर निकाला जा रहा है। आश्रम के बाहर का भी पूरा क्षेत्र पुलिस ने खाली करा दिया। समर्थकों की ओर से भी हमला किया जा रहा है। हजारों की संख्या में समर्थक आश्रम की दीवारों पर चढ़े हुए हैं।

यह भी सूचना है कि एक महिला ने वहां पर आत्मदाह की कोशिश की है। महिला को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इस बीच दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी रामपाल के समर्थक जुटने लगे हैं। राजधानी में समर्थक काबू में रहें, इसके लिए वहां पुलिस की तैनाती कर दी गई है।

उल्लेखनीय है कि हत्या मामले के आरोपी आध्यात्मिक गुरु संत रामपाल अब बरवाला स्थित अपने सतलोक आश्रम में नहीं हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए घेराबंदी किए 30 हजार पुलिसकर्मी देखते रह गए और संत रामपाल आश्रम से निकल गए। इस बीच, आश्रम में रह रहे लोगों को सुबह से ही बाहर निकाला जा रहा है। अब तक 150 लोगों को बाहर निकाला जा चुका है।

मंगलवार सुबह से ही आश्रम के बाहर लोग बाल्टी और केन में पेट्रोल और डीजल भरकर बैठ गए हैं, पुलिस ने मीडियाकर्मियों को आश्रम के पास आने पर भी रोक लगा दी है। उन्हें आश्रम से 500 मीटर की दूरी पर रहने का निर्देश दिया गया है।

जयपुर से आए एक सुरदास ने बताया कि आश्रम के अंदर लोगों को ये बताया जा रहा है कि जैसे वे यहां से बाहर निकलेंगे पुलिस उन्हें पकड़ लेगी। उन्होंने बताया कि यही कारण है कि आश्रम के अंदर से लोग बाहर आने में हिचक रहे हैं।

Share This Post

Post Comment