राजकोट की ज्वैलरी से सज रहीं बांका की दुल्हनें

राजकोट/गुजरात, हार्दिक हरसोरा : साल के अंतिम महीनों में शादी.विवाह के लगन की धूम मची है। अगले सप्ताह से शुरू होने वाली शादियों के लिए बाजार सजकर तैयार हो गया है। ज्वैलरी की दुकानों में पखवाड़ा भर पहले से ही भीड़ लगने लगी है। दुर्गापूजा के बाद से ही लोग लगन की खरीदारी में जुट गए हैं।
लोग शादी में दुल्हन के लिए जरूरत ज्वैलरी की डिजाइन को पसंद कर ऑर्डर दे रहे हैं। इन सबके बीच लोग हॉलमार्क सोने के साथ लाइट वजन की फैंसी आभूषण की डिमांड कर रहे हैं। दुकानदार ऐसी ज्वैलरी को राजकोट से मंगाते हैं।
मध्यवर्गीय परिवार बांका बाजार में कर रहे खरीदारी
स्थानीय विक्रेता सूर्य नारायण ठाकुर ने बताया कि मध्यमवर्गीय परिवार के लोग शादी.विवाह में बांका शहर में ज्वैलरी की खरीदारी करते हैं। बड़े लोग अपने पसंद के लिए बड़े बाजारों में जाते हैं। मध्यम वर्ग का परिवार शादी में दो लाख से अधिक का जेवर खरीदते हैं। जबकि उनसे थोड़ा कम में एक लाख तक की खरीदारी करते हैं। कम वजन में फैंसी आभूषण की मांग अधिक है। इस कारण अधिकांश ज्वेलरी राजकोट से हॉलमार्क ही मंगवा कर बेचते हैं।
महंगाई ने बढ़ाया हल्के ज्वैलरी की फैशन
महंगाई ने लाइट वजन ज्वेलरी का प्रचलन बढ़ा दिया है। लोग कम वजन का खूबसूरत ज्वेलरी की खरीदारी कर रहे हैं। ऐसे में लोगों को पैसा भी कम लग रहा है और खूबसूरती भी बढ़ रही है।
क्या है 22 और 18 कैरेट का सोना
सोने की खरीदारी हॉलमार्क के नाम पर लोग कर लेते हैं। पर बाजार में दो तरह का हॉलमार्क उपलब्ध है। एक 18 कैरेट का और दूसरा 22 कैरेट का। 18 कैरेट सोने में 75 प्रतिशत ही सोना होता है। जबकि 22 कैरेट में 92 प्रतिशत सोना है। इस कारण 18 कैरेट के सोने से 22 कैरेट का सोना अधिक महंगा है। आजकल सभी 22 कैरेट सोने को ही पसंद कर रहे हैं।

Share This Post

Post Comment