मूंछें हों तो पलईराम जैसी, वरना नहीं मिलेगा इनाम

जौनपुर/नगर संवाददाता : 90 के दशक की चर्चित हिन्दी फिल्म ‘शराबी’ का मशहूर डायलॉग है. ‘मूंछें हों तो नत्थूलाल जैसी वरना न हों’। लेकिन जौनपुर में मूंछधारियों ने न सिर्फ लोगों का मनोरंजन किया, बल्कि इनाम भी जीता। बदलापुर महोत्सव में आयोजित अनूठी प्रतियोगिता में 18 से अधिक मूंछधारियों ने हिस्सा लिया।
जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह की पहल पर शानदार मूंछें रखने वालों की प्रतियोगिता कराई गई। मंगलवार देर शाम आयोजित प्रतियोगिता को देखने के लिए भारी भीड़ उमड़ पड़ी थी। इस प्रतियोगिता का खिताब पलईराम को मिला, जबकि पीआरडी जवान ओमप्रकाश यादव ने दूसरा और पुलिस विभाग के सुभाषचंद्र मौर्य को तीसरा स्थान मिला। इसके अलावा 4 मूंछधारियों को सांत्वना पुरस्कार दिया गया।

सिंह ने बताया कि समाज में हर तरह के लोग रहते हैं। इसी समाज में मूंछ रखने वालों की अच्छी-खासी तादाद है। उनका सम्मान बढ़ाने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है।

महोत्सव के आयोजक एवं बदलापुर के विधायक रमेशचंद्र मिश्र ने कहा कि मूंछ प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पाने वाले को 10 हजार रुपए, दूसरे स्थान पर रहने वाले को 5 हजार रुपए और तीसरा स्थान पाने वाले को 3 हजार रुपए का नकद पुरस्कार दिया गया। साथ ही 4 मूंछधारियों को एक-एक हजार रुपए का सांत्वना पुरस्कार दिया गया।

Share This Post

Post Comment