शर्मनाक, भोपाल रेलवे स्टेशन पर 20 वर्षीय युवती से गैंगरेप

भोपाल/नगर संवाददाता : भोपाल रेलवे स्टेशन पर 20 वर्षीय एक महिला के साथ चार सफाईकर्मियों ने सामूहिक बलात्कार किया। पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए ये चारों आरोपी भोपाल रेलवे स्टेशन पर सफाईकर्मी के रूप में कार्यरत हैं। धर्मेंद्र सफाईकर्मियों का सुपरवाइजर है।
भोपाल रेलवे के पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल ने बताया कि बुधवार रात करीब 11ः30 बजे 20 वर्षीय महिला के साथ भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 6 वाशिंग साइड एरिया के अंधेरे वाले स्थान पर यह घटना हुई।

अग्रवाल ने बताया पीड़िता अपनी भांजी के साथ झांकी देख कर घर लौट रही थी और लघु शंका के लिये प्लेटफार्म नंबर 6 वाशिंग साइड एरिया के अंधेरे वाले स्थान पर गई।

पीडि़ता की शिकायत के आधार पर चारों आरोपियों धर्मेंद्र (45), विक्रम करोसिया (32), राजेश खरे (40) एवं राकेश करोसिया (40) के खिलाफ भादंवि की धारा 376(डी), 506 एवं 342 के तहत मामला दर्ज कर उन्हें आज रात गिरफ्तार कर लिया गया।
घटना के बाद महिला नजदीकी हनुमानगंज थाने पहुंची लेकिन घटना जीआरपी के इलाके में होने के कारण पुलिस पीड़ित महिला को लेकर जीआरपी थाने गई।

चल समारोह देखने गई थी, परिवार से बिछड़ी: जीआरपी पुलिस के दिए बयान के मुताबिक 20 वर्षीय पीड़िता अपने परिवार के साथ चल समारोह देखने के लिए निकली थी। इस दौरान छोला मंदिर पुलिया से पास भीड़ में पीड़िता अपने परिवार से बिछड़ गई। इस बीच पीड़िता को अकेला देखकर चार आरोपियों ने उसके साथ रेलवे यार्ड के वॉशिग पिट के पास गैंगरेप किया। पीड़िता को अपना शिकार बनाने के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए।
पुलिस की भूमिका पर उठे सवाल: वहीं इस पूरे मामले में पुलिस की शुरुआती भूमिका पर भी सवाल उठ रहे है। गैंगरेप की शिकार पीड़िता अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए जब हनुमानगंज थाने पहुंची तो पुलिस ने सीमा विवाद में मामले को उलझा को उसकी शिकायत नहीं दर्ज की। पीड़िता के थाने पहुंचने पर हनुमानगंज थाना प्रभारी उसको लेकर घटनास्थल पर पहुंचे और मामले को जीआरपी थाना क्षेत्र का बता दिया।

Share This Post

Post Comment