कौन हो टीम इंडिया का चीफ सिलेक्टर, सहवाग ने किया इस दिग्गज का समर्थन

दिल्ली/नगर संवददाता : नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद इन दिनों विरोधियों के निशाने पर हैं। इन लोगों का मानना है कि एमएसके प्रसाद के स्थान पर किसी अन्य को टीम इंडिया का मुख्‍य चयनकर्ता नियुक्त किया जाना चाहिए। इस पद की दौड़ में अनिल कुंबले का नाम भी तेजी से उभरा है। अपने वक्त के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज रहे वीरेंद्र सहवाग ने भी उनके नाम का समर्थन किया है।

सहवाग ने कुंबले की वकालत ऐसे वक्त की है जब भारतीय क्रिकेट टीम कल से वेस्टइंडीज के खिलाफ 2 टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच एंटीगा में खेलने जा रही है। इस टेस्ट के साथ ही आईसीसी की वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का भी आगाज हो जाएगा।

मुख्य चयनकर्ता का क्यों उठा मुद्दा : असल में टीम इंडिया के मुख्य चयनकर्ता का मुद्दा इसलिए उठा क्योंकि नई ऐप ‘द सिलेक्टर’ के लांच के मौके पर सहवाग से पूछा गया था कि टीम इंडिया का चीफ सिलेक्टर किसे होना चाहिए। सहवाग का जवाब था कि कुंबले इसके लिए सबसे योग्य व्यक्ति हैं क्योंकि उन्हें क्रिकेट की समझ का लंबा अनुभव है। हालांकि सहवाग ने आगे यह भी कहा कि मुझे नहीं लगता कि कुंबले इस पद को स्वीकार करेंगे।
टीम इंडिया के कोच रह चुके हैं कुंबले : रवि शास्त्री के पहले अनिल कुंबले टीम इंडिया के कोच थे और उन्होंने 20 जून 2017 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। जून 2016 में रवि शास्त्री और टॉम मूडी जैसे 57 दिग्गजों को पछाड़कर टीम इंडिया के कोच बने कुंबले का इस पद पर चयन सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति ने किया था।

कुंबले और विराट में नहीं बनती : हालांकि पूरी भारतीय क्रिकेट बिरादरी जानती है कि कप्तान विराट कोहली और अनिल कुंबले में नहीं बनती हैं। जब कुंबले चीफ कोच थे, तब भारतीय टीम इंग्लैंड के दौरे पर थी। चूंकि विराट आजाद खयालों के हैं लिहाजा वे टीम के सदस्यों को भी आजादी देना चाहते थे लेकिन कुंबले बेहद अनुशासन प्रिय इंसान हैं। वे चाहते थे कि टीम अनुशासित हो और रात की पार्टियों से खिलाड़ी परहेज करें।

विराट को क्यों पसंद आए रवि शास्त्री : विराट कोहली को रवि शास्त्री इसलिए पसंद आए क्योंकि दोनों के विचार काफी मिलते जुलते हैं। रवि ने खिलाड़ियों को पूरी छूट दी कि वे विदेशी दौरों पर अपनी तरह से जिंदगी जिएं। देर रात की पार्टी से भी शास्त्री को परहेज नहीं था। यही कारण है कि हाल ही रवि शास्त्री को 2021 तक के लिए चीफ कोच की जिम्मेदारी दे डाली।

राष्ट्रीय चयनकर्ता प्रसाद ने खेले 6 टेस्ट : जहां तक मौजूदा राष्ट्रीय चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का सवाल है तो उन्होंने टीम इंडिया के लिए केवल 6 टेस्ट मैच खेलें हैं जबकि कुंबले को 132 टेस्ट मैच और 271 एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों का लंबा अनुभव है। यही वो वजह है कि सहवाग 48 वर्षीय कुंबले को मुख्य चयनकर्ता के रूप में देखना चाहते हैं। वर्तमान 5 सदस्यीय चयन समिति ने कुल 13 टेस्ट मैच खेले हैं।

चीफ सिलेक्टर का वेतन 1 करोड़ सालाना : बीसीसीआई ने टीम इंडिया के चीफ सिलेक्टर का वार्षिक वेतन 1 करोड़ रुपए सालाना तय किया हुआ है लेकिन सहवाग को यह वेतन कम लगता है। उनका मानना है कि इस वेतन में इजाफा होना चाहिए।

Share This Post

Post Comment