मौसम अपडेट : उत्तराखंड में बादल फटने से भारी तबाही, 8 लोगों की मौत, 10 लापता

उत्तराखंड/नगर संवददाता : भारत के कई राज्य इस समय बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं। बाढ़ और भूस्खलन के कारण उत्तराखंड में भारी नुकसान हुआ है। उत्तराखंड के उत्तरकाशी में बादल फटने से भारी तबाही हुई, जिसमें 8 लोगों की मौत हो गई, 10 लोग लापता हैं। यहां बादल फटने से कई घरों को नुकसान पहुंचा है, साथ ही बिजली और संचार सुविधाएं भी प्रभावित हुई है। प्रशासन द्वारा बचाव कार्य जारी है।

खबरों के मुताबिक, उत्तराखंड के 8 जिलों में त्राहि.त्राहि मची है। कई जगह बादल फटने से कोहराम मचा हुआ है तो कहीं भूस्खलन से पहाड़ टूटकर सड़कों पर गिर रहे हैं। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में हो रही लगातार बारिश की वजह से हिमाचल, उत्तराखंड और पंजाब में जानमाल का नुकसान बड़े पैमाने पर हो रहा है, जिससे यहां अलर्ट जारी किया गया है। इन राज्यों में अब तक कम से कम 28 लोगों के मार जाने, जबकि 22 लोगों के पानी में बह जाने की खबर है।

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में बादल फटने से भारी तबाही हुई, जिसमें 8 लोगों की मौत हो गई, 10 लोग लापता हैं। यहां बादल फटने से कई घरों को नुकसान पहुंचा है, साथ ही बिजली और संचार सुविधाएं भी प्रभावित हुई है। प्रशासन द्वारा बचाव कार्य जारी है। उत्तराखंड के मोरी क्षेत्र में हुई भारी बारिश और बादल फटने से ग्रामीणों के मलबे में दबे होने की सूचना मिली। इस पर एसडीआरएफ की टीम बड़कोट से रवाना हुई। सुदूरवर्ती क्षेत्र मोरी के गांव माकुड़ी,त्र टिकोची और आराकोट भारी बारिश से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं।

माकुड़ी में लोगों के मलबे में दबे होने की खबर है। एसडीआरएफ की टीम बड़कोट से प्रभावित इलाके आराकोट में पहुंच चुकी है। रास्ता ज्यादा टूटे होने से टीम को प्रभावित गांव में पहुंचने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। मोरी में रेस्क्यू के लिए दो हेलीकॉप्टर भी लगाए गए हैं। एसडीआरएफ कम्युनिकेशन सदस्यों की ओर से इलाके में आवश्यक वायरलेस टॉवर लगाकर रेस्क्यू के लिए संचार व्यवस्था शुरू की जाएगी। उत्तराखंड में पानी छोड़े जाने के चलते हरियाणा और दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।

हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हो रही लगातार बारिश की वजह से हिमाचलए उत्तराखंड और पंजाब में जानमाल का नुकसान बड़े पैमाने पर हो रहा है। मौसम विभाग ने सोमवार को भी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इन राज्यों में अब तक कम से कम 28 लोगों के मार जानेए जबकि 22 लोगों के पानी में बह जाने की खबर है। उत्तराखंड के 8 जिलों में त्राहि.त्राहि मची है। कई जगह बादल फटने के बाद कोहराम मचा हुआ है तो कहीं भूस्खलन से पहाड़ टूटकर सड़कों पर गिर रहे हैं।

पंजाब में भाकड़ा डैम से पानी छोड़े जाने के कारण रोपड़ में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है। सतलुज खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। पंजाब के कई गांवों में सतलुज का पानी घुस गया है। हरियाणा सरकार ने सेना से तैयार रहने का अनुरोध किया है। हरियाणा के अलावा पंजाब में भी हाईअलर्ट जारी किया गया है। हिमाचल प्रदेश में लगातार हो रही भारी बारिश की वजह से 22 लोगों की मौत हो गई है। इन मरने वालों में दो नेपाली मूल के नागरिक भी शामिल हैं।

शिमला में 9, सोलन में 5, कुल्लू, सिरमौर और चंबा में दो-दो व्यक्तियों की और उना तथा लाहौल-स्पीति जिलों में भी एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। हिमाचल प्रदेश में अब तक 490 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। एनडीआरएफ की टीमों को कांगड़ा के नूरपुर और सोलन के नालागढ़ उपमंडलों में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए बुला लिया गया है।

Share This Post

Post Comment