बाड़मेर का शिक्षा विभाग कुम्भकर्ण की नींद में

राजस्थान/बाड़मेर, कैलाश वैष्णव : बाड़मेर में बिना मान्यता के चल रहे सैकड़ो निजी विद्यालय, आज तक नही हुई कोई कार्यवाही
शिक्षा माफियाओं ने शिक्षा को बनाया अपना व्यापार
बगैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों में संचालित हो रही कक्षाएं
जिले के कई निजी विद्यालयों में अभिभावकों से मनमानी तरीके से वसूली जा रही है फीस
इन विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के नाम मान्यता प्राप्त विद्यालयों में दर्ज कराए हुए है लेकिन फिर भी बिना मान्यता प्राप्त विद्यालय में पढ़ते है विद्यार्थी एवं विद्यार्थियों के साथ करते है खिलवाड़
जिले में सैकड़ो की संख्या में ऐसे विद्यालय है, जिनके पास शिक्षा विभाग से 8वीं या 10वीं कक्षा तक कि मान्यता है लेकिन शिक्षा विभाग की मिलीभगत से ये विद्यालय 12वीं तक कक्षाएं संचालित कर रहे है
इन विद्यालयों के पास कोई पर्याप्त भवन भी नहीं है एवं कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है
इन विद्यालयों के प्रबंधकों ने तो विद्यालय में शिक्षकों को बिना कोई ग्रेजुएशन के ही पढ़ाने के लिए रख लिया है
अगर बाड़मेर का शिक्षा विभाग इन विद्यालयों पर कार्यवाही करें तो कई विद्यालय हो सकते है बंद

 

Share This Post

Post Comment