राज्य मंत्री ने नगर पालिका अधिशाषी अधिकारी को त्वरित कार्यवाही करने के लिए दिए निर्देश, मुख्यमंत्री के नाम उपखंड अधिकारी को सौंपा गया था ज्ञापन

राजस्थान/पयपुर, धर्म वीर कुमावत : कोटपूतली। कस्बे की ढाणी इटली में गंदे पानी की निकासी को लेकर नगर पालिका प्रशासन ने असमर्थता जाहिर की थी।पानी निकासी के लिए नगरपालिका प्रशासन द्वारा कनिष्ठ अभियंता के नेतृत्व में स्वास्थ्य निरीक्षक व जमादारों की एक टीम बनाई गई थी। टीम ने निरीक्षण के बाद पंप सेट से पानी निकालने की बात कही और यह बात सामने आयी कि पानी को एनएचएआई के नाले में डालने पर ही समस्या का समाधान संभव है इस पर अधिशासी अधिकारी ने कहा कि एनएचएआई द्वारा निर्मित नाला व सर्विस लाइन नगर पालिका के अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है इसलिए एनएचएआई के अधिकारियों से बिना अनुमति के नाले में पानी नहीं छोड़ा जा सकता है, लेकिन सच्चाई यह है कि एनएचएआई के नाले पहले से ही बंद पड़े हैं जिससे बरसात के दौरान पानी सड़कों पर भर जाता है। जागरुक जनता अखबार के ब्यूरो चीफ धर्मवीर कुमावत ने बताया कि क्षेत्रवासियों द्वारा उप खंड अधिकारी को मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार के नाम गंदे पानी की निकासी के लिए ज्ञापन सौंपा गया था।जिस पर उप खंड अधिकारी ने नगर पालिका प्रशासन को जलभराव की समस्या का निस्तारण करने के लिए निर्देशित किया था लेकिन नगर पालिका प्रशासन ने एनएचएआई का हवाला देकर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया जबकि एनएचएआई की कार्यशैली से पहले से ही नालियों व सड़कों की हालत बदतर है जिसके चलते मकानों व स्कूल के चारों ओर पानी भरा हुआ है जिससे कभी भी कोई बड़ा हादसा घटित हो सकता है। गौरतलब है कि राष्ट्रीय राजमार्ग से हाउसिंग बोर्ड को जाने वाली सड़क पर पानी भराव की वजह से बिजली के पोल व ट्रांसफार्मर धराशाई हो गया था उस समय पानी में ट्रांसफार्मर के गिरते ही धमाके के साथ बिजली आपूर्ति बंद हो गई थी अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। उक्त घटनाओं की जानकारी ज्योंही राज्य मंत्री राजेंद्र सिंह यादव को लगी तो वे मौके पर जलभराव की समस्या के निस्तारण के लिए पहुंचे और नगर पालिका अधिशासी अधिकारी को 3 बोरिंग करवा कर जलभराव की समस्या के लिए त्वरित कार्यवाही करने के लिए निर्देश दिए।

WhatsApp Image 2019-08-07 at 10.52.16 AM

Share This Post

Post Comment