वसई आय विभाग लिपीक बालाराम सालवी को किया निलंबन

index

मुंबई/महाराष्ट्र, नजीर मुलाणीः वसई, विरार मनपा वसई आय विभाग लिपीक बालाराम सालवी को किया निलंबन आयुक्त-बी. जी. पवार साहब वसई-विरार मनपा के प्रभाग समिति (आय) अंतर्गत बाजार कर वसूली विभाग का प्रभार देखने वाले वरिष्ठ लिपिक पर अवैध वसूली के आरोप के चलते निलम्बन की कार्यवाही की गई है ज्ञात हो कि पिछले साल मार्च महीने में कुछ पत्रकारों को जब इस आशय की सूचना मिली कि उस वक्त लिपिक बाजार कर वसूली में धांधली करता है और इतना ही नहीं वसूली करने बगैर मनपा की इजाजत गैर कानूनी तरीके से बाहरी व्यक्ति को कार्य पर रख कर हाट बाजार के व्यवसाइयों से अवैध रुप से मनमानी कर वसूल करता है, पत्रकारों ने जब इस शिकायत की सत्यता का पता लगाने लोगों से मुलाकात की और पूछताछ की तो शिकायत सही होना पाए जाने के बाद पत्रकारों ने प्रभाग समिति आय के तब के प्रभारी सहायक आयुक्त रतेश किणी को अवगत कारवाया और सहायक आयुक्त द्वारा जांच के आदेश दिए गए तब बौखलाहट में उस वक्त लिपिक ने शिकायतकर्ता पत्रकारों पर सरकारी कार्य मे बाधा डालने का कलम 353 के तहत झूठा मामला दर्ज करवा कर पूरे प्रकरण को दूसरा मोड़ देने की कोशिश की लेकिन मनपा की विभागीय जांच में लिपिक के ऊपर आरोप सही पाए गए और हाल ही में लिपिक को अपने कार्य से निलंबित करने और निलम्बन तक हर रोज मनपा मुख्य कार्यालय विरार में हाजरी देने का आदेश दिया है। इस मामले ने एक बार फिर पत्रकारों पे झूठे मामले दर्ज करवा कर पत्रकारिता को बदनाम करने वाले सरकारी कर्मचारि की सत्यता सामने आने के बाद सरकार और पुलिस को पत्रकारों के खिलाफ जाली मामले दर्ज करने से पूर्व पूर्णतया तहकीकात करने की आवश्यकता का आभास जरूर हुआ है। वसई विरार मनपा में अवैध वसूली करने वाले वरिष्ठ लिपिक (वसूली भाई) बालाराम सालवी को किया गया निलंबित लेकिन उस अधिकारी को हमेशा के लिए घर पर बिटाना जरूरी है तब भ्रष्टाचार कम होगा हमारा क्या होगा जादा से जादा 6 महिना घर पर बिठाएगे उसे ज्यादा क्या होगा इस वजसे भ्रष्ट्राचार जादा होता है। प्रायव्हेट आदमी पर जाच करना जरूरी है साबीत होणे के बाद भी उस पर कोई कारर्वाही नहीं क्यु, आय विटनिस ए और चालीस विटणीस उन पर भी पुछताछ करना जरूरी है तीन पत्रकारों ने आयुक्त इनका शुक्रीया अदा किया और सही न्याय दिलवाया।

Share This Post

Post Comment